Home /News /haryana /

दो अफसरों में ठनी! SP से नाराज महिला अधिकारी ने दफ्तर में जड़ा ताला, जानें क्या है माजरा

दो अफसरों में ठनी! SP से नाराज महिला अधिकारी ने दफ्तर में जड़ा ताला, जानें क्या है माजरा

पानीपत में दो अधिकारियों के बीच ठन गई है, जिससे लोगों को इसका नुकसान उठाना पड़ रहा है.

पानीपत में दो अधिकारियों के बीच ठन गई है, जिससे लोगों को इसका नुकसान उठाना पड़ रहा है.

Dispute between two officers in Panipat: जिला संरक्षण अधिकारी रजनी गुप्ता ने बताया कि इस बारे में वह कई बार पुलिस अधीक्षक को लिखित में भी दे चुकी हैं, लेकिन पुलिस अधीक्षक की तरफ से कोई जवाब नहीं आया, जिसके बाद से रजनी गुप्ता के कार्यालय का काम पूरी तरह बाधित हो गया है. इसी क्रम में गुरुवार को भी प्रोटेक्शन ऑफिसर के कार्यालय में बाल विवाह से संबंधित तीन केस आए हुए थे, जिनमें एक केस नया और दो पुराने थे. लोगों की काफी भीड़ आई थी. ऐसे में स्टाफ नहीं होने की वजह वह सभी लोगों की बातें नहीं सुन सकीं.

अधिक पढ़ें ...

सुमित भारद्वाज

पानीपत. पानीपत जिले की प्रोटेक्शन अधिकारी रजनी गुप्ता और SP शशांक कुमार सावन के बीच रार की खबरें चर्चा में है. गुरुवार को प्रोटेक्शन अधिकारी रजनी गुप्ता ने अपने दफ्तर पर ताला लगाकार कोर्ट का रुख कर लिया है. जिससे वहां मदद मांगने आए लोगों को काफी परेशानियां हो रही है.

जानकारी के अनुसार, जिले की बाल संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी रजनी गुप्ता ने स्टाफ और गाड़ी छीन लिये जाने के कारण ये कदम उठाया है. रजनी गुप्ता का आरोप है कि पानीपत एसपी शशांक कुमार सावन ने अज्ञात कारणों के चलते पहले पुलिस सुरक्षा फिर स्टाफ और उसके बाद सरकारी गाड़ी वापस ले ली. इस बाद से रजनी गुप्ता पानीपत एसपी शशांक कुमार सावन से नाराज हैं.

एसपी ने प्रोटेक्शन ऑफिसर के दफ्तर को ले जाना चाहते हैं पुलिस लाइंस 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक प्रोटेक्शन ऑफिसर रजनी गुप्ता को महिला थाने में ही एक ऑफिस मुहैया कराया है, थाने में जगह कम होने के चलते एसपी शशांक कुमार आनंद ने रजनी गुप्ता के ऑफिस को पुलिस लाइन में शिफ्ट करने के निर्देश दिए थे. लेकिन ऑफिस शिफ्ट करने से रजनी गुप्ता ने इनकार कर दिया था, उन्होंने कहा था कि वह अपना ऑफिस पुलिस लाइन में शिफ्ट नहीं करेगी. उसके बाद से ही एसपी शशांक कुमार सावन ने गाड़ी और फिर स्टाफ वापस ले लिया.

SP को कई बार लिखित में दे चुकी हैं, फिर कोई जवाब नहीं आया: रजनी गुप्ता 

रजनी गुप्ता ने बताया कि इस बारे में वह कई बार पुलिस अधीक्षक को लिखित में भी दे चुकी हैं, लेकिन पुलिस अधीक्षक की तरफ से कोई जवाब नहीं आया, जिसके बाद से रजनी गुप्ता के कार्यालय का काम पूरी तरह बाधित हो गया है. इसी क्रम में गुरुवार को भी प्रोटेक्शन ऑफिसर के कार्यालय में बाल विवाह से संबंधित तीन केस आए हुए थे, जिनमें एक केस नया और दो पुराने थे. लोगों की काफी भीड़ आई थी. ऐसे में स्टाफ नहीं होने की वजह वह सभी लोगों की बातें नहीं सुन सकीं.

इतना  ही नहीं, जब वे किशोरी को कोर्ट में पेश करने गई तो उन्हें मजबूरन अपने कार्यालय पर ताला लगाना पड़ा. उनके इंतजार में कार्यालय के बाहर लोग खड़े रहे. इस मामले में रजनी गुप्ता का कहना है कि वे अब पूरी तरह पुलिस पर आधारित हो गई हैं. जिससे उनका काम शत प्रतिशत बाधित हो रहा है.

Tags: Haryana news, Panipat News

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर