होम /न्यूज /हरियाणा /

धुंध की वजह से तेज रफ्तार कार नहर में गिरी, कार समेत डूबी पत्नी, जानिए पति की कैसे बची जान!

धुंध की वजह से तेज रफ्तार कार नहर में गिरी, कार समेत डूबी पत्नी, जानिए पति की कैसे बची जान!

हरियाणा के पानीपत से दिल्ली जा रहे पति-पत्नी सड़क हादसे का शिकार हो गए, इसमें पत्नी की मौत हो गई.

हरियाणा के पानीपत से दिल्ली जा रहे पति-पत्नी सड़क हादसे का शिकार हो गए, इसमें पत्नी की मौत हो गई.

Panipat Accident: इस हादसे की सूचना मिलते ही स्थानीय थाना पुलिस मौके पर पहुंची. गोताखोरों की टीम बुलाई गई. टीम ने महिला और कार को नहर में तलाशा, मगर ढाई घंटे तक दोनों का कोई सुराग नहीं लगा. सुबह करीब पौने 7 बजे गोताखोरों को कार नहर में मिल गई, गोताखोरों की टीम नहर में तलाश करती हुई ख़ूबड़ू नहर के पास पहुंची, जहां सोनिया का शव बहकर पहुंच गया था, उसे बरामद कर लिया गया.

अधिक पढ़ें ...

सुमित भारद्वाज

पानीपत. हरियाणा के पानीपत जिले में शनिवार सुबह एक बड़ा हादसा हो गया. धुंध की वजह से सड़क न दिखाई देने के कारण अनियंत्रित होकर एक ऑल्टाे कार समालखा स्थित नामुंडा नहर में गिर गई. कार में पति-पत्नी सवार थे. पति तो बाहर निकल आया, मगर कार समेत पत्नी नहर में बह गई. पति ने ही घटना की सूचना पुलिस को दी. पत्नी का शव ख़ूबडू नहर में बरामद किया. मृतक महिला के परिजनों ने इसे दिया हत्या का मामला करार दिया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

मिली जानकारी के अनुसार, समालखा के परढ़ाना निवासी जितेंद्र अपनी पत्नी सोनिया के साथ ऑल्टो कार में सवार होकर किसी काम से दिल्ली जा रहे थे. वे घर से करीब साढ़े 4 बजे निकले. अलसुबह घना कोहरा था. मगर उन्हें दिल्ली बहुत जरूरी व एमरजेंसी में जाना पड़ रहा था, इसलिए वे इस घने कोहरे में भी जाने को मजबूर थे.

धुंध की वजह से कार अनियंत्रित हुई है और नहर में जा गिरी

घर के निकलने के 15 मिनट बाद यानि 4:45 बजे जब कार समालखा की नामुंडा नहर के करीब पहुंची तो क्षेत्रफल खुला होने और नहर होने की वजह से धुंध बहुत ज्यादा थी. इसलिए न सड़क दिखाई दी और न ही नहर दिखाई दी. जितेंद्र अपनी राह की ओर आगे बढ़ने लगा, लेकिन धुंध की वजह दृश्यता बिल्कुल जीरो हो गई थी, जिससे वह नियंत्रण खो बैठा और कार नामुंडा नहर में जा गिरी.

गोताखाेरों ने ढाई घंटे की मशक्कत के बाद खोज निकाला

सूचना मिलते ही स्थानीय थाना पुलिस मौके पर पहुंची. गोताखोरों की टीम बुलाई गई. टीम महिला व कार को नहर में तलाश रही, मगर ढाई घंटे तक दोनों का कोई सुराग नहीं लगा. सुबह करीब पौने 7 बजे गोताखोरों को कार नहर में मिल गई, गोताखोरों की टीम नहर में तलाश करती हुई ख़ूबड़ू नहर के पास पहुंची, जहां सोनिया का शव बरामद कर लिया गया.

परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

वहीं, मामले की सूचना पाकर सोनिया के परिजन मौके पर पहुंचे और उन्होंने इस मामले में इसे सोची समझी साजिश करार देते हुए हत्या का मामला करार दिया है. कहा है कि लंबे समय से सोनिया को उसके ससुराल पक्ष के लोग शादी के लिए के बाद से ही दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे. जिसमें कई बार पंचायतें भी हो चुकी है. मृतका के भाई सुधीर ने का बताया कि हाल ही में उसने 100000 जितेंद्र को दिए थे. फिलहाल शव को पुलिस द्वारा कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए पानीपत के सामान्य अस्पताल में भिजवा आगामी जांच शुरू की गई है.

Tags: Haryana police, Panipat News

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर