• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • अजय चौटाला ने कहा- कृषि कानूनों का समाधान इस्तीफा है तो 10 MLAs मेरी जेब में, आएं लेकर जाएं

अजय चौटाला ने कहा- कृषि कानूनों का समाधान इस्तीफा है तो 10 MLAs मेरी जेब में, आएं लेकर जाएं

पानीपत पहुंचे JJP सुप्रीमो अजय चौटाला को किसानों का भारी विरोध झेलना पड़ा. किसानों ने उन्हें काले झंडे दिखाये.

पानीपत पहुंचे JJP सुप्रीमो अजय चौटाला को किसानों का भारी विरोध झेलना पड़ा. किसानों ने उन्हें काले झंडे दिखाये.

Farmer Protest in Haryana: किसानों द्वारा हरियाणा के डिप्टी CM दुष्यंत चौटाला का इस्तीफा मांगने को लेकर अजय चौटाला ने प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि इस्तीफा तो दुष्यंत के चाचा ने भी दिया था, तो क्या उनके इस्तीफा देने से कोई समाधान निकल गया?

  • Share this:

    सुमित भारद्वाज,

    पानीपत. किसान आंदोलन के चलते हरियाणा सरकार का किसान लगातार विरोध कर रहे हैं. गुरुवार को जननायक जनता पार्टी (JJP) के संस्थापक और डिप्टी CM दुष्यंत चौटाला के पिता अजय चौटाला का पानीपत में जमकर विरोध हुआ. उन्हें किसानों ने काले झंडे भी दिखाए गए. नाराज किसानों को काबू करने के लिए पुलिस को कड़ी मशकत करनी पड़ी. इस दौरान पुलिस और किसानों के बीच झड़प भी हुई. किसानों के विरोध के बाद जब अजय चौटाला कार्यक्रम में पहुंचे तो मन से कृषि कानूनों को लेकर खुले मन से बोले. चौटाला ने कहा की इस्तीफा कृषि कानून का समाधान नहीं है, अगर इस्तीफा समाधान होता है तो जेजेपी के 10 के 10 विधायकों के इस्तीफे मेरी जेब में हैं. मेरे पास आएं और ले जाएं.

    वहीं उन्होंने किसानों द्वारा दुष्यंत चौटाला के इस्तीफा मांगने को लेकर भी प्रतिक्रिया दें. उन्होंने कहा कि इस्तीफा तो दुष्यन्त के चाचा ने भी दिया था, तो क्या उनके इस्तीफा देने से कोई समाधान निकल गया. उन्होंने अभय चौटाला पर चुटकी लेते हुए कहा कि उनके पास एक मेम्बरी थी वह भी जाती रही. अजय चौटाला ने कहा समाधान राज में हुआ करते हैं इस्तीफा कोई समाधान नहीं होता. कृषि कानून केंद्र की सरकार ने बनाए हैं. प्रदेश सरकार ने नही इसलिए अगर किसानों को इस्तीफे मांगने हैं तो हरियाणा के सांसदों से मांगो. करनाल लोकसभा से सांसद संजय भाटिया से मांगे ओर दूसरे सांसदों से मांगो या जिन हरियाणा के मन्त्रियों की केंद्रीय में भागीदारी है उनसे मांगो.

    चौटाला को विरोध में किसानों ने दिखाये काले झंडे

    किसानों द्वारा विरोध के बारे में जब अजय चौटाला ने मीडिया से बातचीत की तो उन्होंने कहा कि 5 किसान विरोध करने आए हुए थे जो मुझे काले झंडे दिखा रहे थे. उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में रैली करने और विरोध करने का सबको अधिकार है. 26 तारीख को पानीपत की नई अनाज मंडी में किसान नेता राकेश टिकैत की अध्यक्षता में किसान महापंचायत को लेकर राजा चौटाला बोले लोकतंत्र में रैलियां करने का अधिकार सबको है, लेकिन रैलियां करने और मुझे काले झंडे दिखाने से समाधान नहीं निकल सकता.

    बॉर्डर खाली करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट का आदेश मानना पड़ेगा

    वहीं अजय चौटाला बॉर्डर को खाली करवाने के लिए बनाई गई हाई लेवल कमेटी को लेकर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट का आदेश है उन्हें वहां से जाना पड़ेगा, क्योंकि आसपास के लोग प्रताड़ित हैं और उद्योगपतियों को अरबों करोड़ों का नुकसान हो रहा है. अजय चौटाला चुनाव ना करवाने को लेकर बोले सरकार में किसी प्रकार कोई डर नहीं है. चुनाव करवाने का काम चुनाव आयोग का है वह जब चाहे तब चुनाव करवा सकते हैं. उन्होंने कहा कि अब तक सभी चुनाव गठबंधन सरकार में ही हुए हैं आगे भी गठबंधन से ही चुनाव होंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज