अपना शहर चुनें

States

Farmers Protest: आंदोलन के कारण दिल्ली नहीं जा पा रही पानीपत की सब्जी, किसानों को हो रहा नुकसान

किसानों की सब्जियां नहीं जा पा रही दिल्ली
किसानों की सब्जियां नहीं जा पा रही दिल्ली

Farmer Protest: दिल्ली बॉर्डर जाम होने के बीच पानीपत की मंडियों में सब्जी (Vegetable) की आवक ज्यादा होने और खरीदार न मिलने से किसानों को हो रहा घाटा. 20 रुपये किलो बिकने वाली सब्जी 4 से 5 रुपये किलो में लेने वाला कोई नहीं मिल पा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 2, 2020, 1:37 PM IST
  • Share this:
पानीपत. एक और जहां दिल्ली बॉर्डर (Delhi Border) पर देश का किसान अपने हकों और कृषि कानून को खत्म करने की लड़ाई (Farmers Protest) लड़ रहा है. वहीं दूसरी और इस आंदोलन का असर अब किसानों पर ही पड़ना शुरू हो गया है. दरअसल पानीपत (Panipat) से बड़ी मात्रा में सब्जी की सप्लान दिल्ली के लिए की जाती है. पिछले कुछ दिनों से सब्जी की खपत और डिमांड ज्यादा थी, जिसके चलते किसानों को सब्जियों के अच्छे भाव मिल रहे थे. लेकिन जैसे ही किसानों ने बॉर्डर सील किया तो सब्जियां पानीपत में ही फंस कर रह गई. अब पूरे जिले की सब्जी पानीपत की सब्जी मंडी में आ रही है, जिसकी खपत कम होने के चलते कोई खरीदार ही नहीं मिल पा रहा है.

आज आलम ये हो चुका है कि जो सब्जी 20 रुपये किलो बिक रही थी, आज वही सब्जी 4 से 5 रुपये किलो में लेने वाला कोई नहीं मिल पा रहा है. एक किसान से जब हमने बातचीत की तो उन्होंने बताया कि 900 रुपये का टेम्पो करके सब्जी बेचने आया था, लेकिन सब्जी कुल 600 रुपये की ही बिकी जिसके चलते उन्हें घाटे में सब्जियां बेचनी पड़ रही है.

दिल्ली ले जाने में रिस्क
किसान ने बताया कि सब्जी दिल्ली नहीं ले जा पा रहे हैं. अगर लेकर जाने का भी रिस्क लेते है तो गाड़ी वाले भी डबल किराया मांगते है. क्योंकि उन्हें यूपी से तो या कहीं दूसरे रास्तों से होकर गुजरना पड़ता है. इतना ही नहीं इस दौरान कहीं गाड़ी जाम में फंस जाए तो सब्जी खराब होने का भी डर बना रहता है.
किसानों को हो रहा नुकसान


बता दें कि जहां दिल्ली में सब्जियों और फलों के दाम आसमान को छू रहे हैं तो वहीं पानीपत की सब्जी मंडी में सब्जियां काफी सस्ती हो गई है. बाहर से भी पानीपत की मंडी में आने वाली सब्जियां व फलों की आवक आधे से भी कम हो गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज