दूसरे चरण में पहुंचा हरियाणा जेल रेडियो, चार जेलों का किया गया चयन

यह जेल रेडियो जेल सुधारक वर्तिका नन्दा की परिकल्पना है

हिसार, करनाल, रोहतक और गुरुग्राम जेलों में किए गए ऑडिशन में करीब 70 बंदियों ने हिस्सा लिया था जिनमें से 25 का चयन किया गया है. यह ऐतिहासिक कदम 'तिनका-तिनका फाउंडेशन' की ओर से उठाया जा रहा है.

  • Share this:
    हरियाणा की जेलों में रेडियो स्‍टेशन बनाने का अभियान जोर-शोर से जारी है. जेल रेडियो के पहले चरण के तहत पानीपत, फरीदाबाद और सिरसा जेल में बंदियों के लिए रेडियो की शुरुआत हो चुकी है. इस रेडियो स्‍टेशन में कैदी ही जॉकी और पत्रकार हैं. जेल के अंदर खबरें भी यही पहुंचाते हैं और फरमाइश पूरी करके बंदियों का मनोरंजन भी यही करते हैं. बता दें कि हरियाणा की तीन जेलों में तिनका तिनका जेल रेडियो की ट्रेनिंग और उनके विधिवत उद्घाटन के बाद अब यह परियोजना अपने दूसरे चरण में प्रवेश कर गई है.

    जेल रेडियो के दूसरे चरण के लिए चार जेलों का चयन किया गया है. जिसमें सेंट्रल जेल नंबर एक हिसार, ज़िला जेल करनाल, ज़िला जेल रोहतक और ज़िला जेल गुरुग्राम शामिल हैं. इन चार जेलों में किए गए ऑडिशन में करीब 70 बंदियों ने हिस्सा लिया था जिनमें से 25 का चयन किया गया है. जेल रेडियो की ट्रेनिंग 12 मार्च से 17 मार्च तक चलेगी. यह ऐतिहासिक कदम 'तिनका-तिनका फाउंडेशन' की ओर से उठाया जा रहा है.

    पानीपत जेल रेडियो हरियाणा का पहला जेल रेडियो था जिसका उद्घाटन 16 जनवरी, 2021 को श्री रंजीत सिंह, जेल मंत्री, श्री राजीव अरोड़ा (आईएएस) एसीएस ( गृह) जेल विभाग, हरियाणा सरकार, श्री के. सेल्वाराज (आईपीएस) जेल महानिदेशक, हरियाणा, श्री देवी दयाल, जेल अधीक्षक और डॉक्टर वर्तिका नन्दा, संस्थापक तिनका तिनका फाउंडेशन द्वारा किया गया था. इसके बाद ज़िला जेल फरीदाबाद और सेंट्रल जेल सिरसा में श्री जय किशन छिल्लर और श्री लखबीर बरार के द्वारा जेल रेडियो का उद्घाटन किया गया और इसके साथ ही पहला चरण संपन्न हुआ था.



    हरियाणा में जेल रेडियो जेल सुधारक वर्तिका नन्दा की परिकल्पना है. डॉ. नन्दा ने कैदियों के ऑडिशन और प्रशिक्षण की ज़िम्मेदारी भी निभाई है. वे लेडी श्रीराम कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय में पत्रकारिता विभाग की अध्यक्ष हैं और तिनका तिनका फाउंडेशन की संस्थापक भी हैं. उन्हें 2019 में ज़िला जेल आगरा में जेल रेडियो शुरू करने का श्रेय दिया जाता है. यह भारत की सबसे पुरानी जीवित जेल इमारत है. यह जेल रेडियो जेल सुधारों के तिनका मॉडल बनाने की दिशा में एक कदम है जिसे बाद में भारत सरकार के सामने पेश किया जाएगा. जेल का रेडियो जेलों में संवाद की जरूरतों को पूरा करने में मदद कर रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.