पानीपत: हवेली रेस्टोरेंट और स्वर्ण महल होटल सील, दोनों के पास नहीं था ऑक्युपेशन सर्टिफिकेट
Panipat News in Hindi

पानीपत: हवेली रेस्टोरेंट और स्वर्ण महल होटल सील, दोनों के पास नहीं था ऑक्युपेशन सर्टिफिकेट
रेस्टोरेंट और होटल पर 17 ताले लगाकर सील कर दिया

होटल अकाउंटेंट नंद महाजन ने बताया कि ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट (Occupation Certificate) नहीं होने के कारण जिला नगर योजनाकार विभाग द्वारा होटल को सील किया गया है.

  • Share this:
पानीपत. हवेली रेस्टोरेंट (Haveli Restaurant) और स्वर्ण महल होटल (Hotel) के कागज पूरे नहीं मिलने पर सोमवार को सील किया कर दिया गया. झट्टीपुर स्थित हवेली और स्वर्ण महल के मालिक ने सीएलयू ली है, लेकिन इनके पास ऑक्युपेशन सर्टिफिकेट नहीं है. जिला नगर योजनाकार विभाग की ओर से एक बार फिर नेशनल हाइवे-44 पर ये बड़ी कार्रवाई की गई है.

बता दें कि अगस्त 2019 में ऑक्युपेशन सर्टिफिकेट के लिए किए गए आवेदन को रद्द कर दिया था. उसके बाद 2019 और जनवरी 2020 को नोटिस भेजा, लेकिन मालिक ने जवाब नहीं दिया. इसके चलते सोमवार को रेस्टोरेंट और होटल पर 17 ताले लगाकर सील कर दिया. हिदायत दी कि अगर सील खोली तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

नोटिस का नहीं दिया गया जवाब



डीटीपी ललित ने बताया कि सीएलयू तो ले ली है थी, लेकिन ऑक्युपेशन सर्टिफिकेट नहीं लिया गया है. रेस्टोरेंट और होटल करीब 4 एकड़ जमीन पर बने हैं. सीएलयू लेने के बाद 2 साल के दौरान ऑक्युपेशन सर्टिफिकेट लेना जरूरी होता है जोकि इनके पास नहीं था. जिसके लिए रेस्टोरेंट और होटल के मालिक ईश गाेयल को योजनाकार विभाग की ओर से नोटिस भी दिए गए. अंतिम नोटिस जनवरी में दिया गया था. इस नोटिस का भी जवाब नहीं दिया गया. डीटीपी ने बताया कि चौटाला रोड पर कई अवैध निर्माण कराए जा रहे हैं. दो और ढाबों को नोटिस दिया गया है.
होटल अकाउंटेंट ने कही ये बात

होटल अकाउंटेंट  नंद महाजन ने बताया कि ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट नहीं होने के कारण जिला नगर योजनाकार विभाग द्वारा होटल को सील किया गया है. सर्टिफिकेट के लिए पहले ही अप्लाई कर दिया गया था लेकिन विभाग ने रिजेक्ट कर दिया. जल्द ही फिर से ऑक्युपेशन सर्टिफिकेट के लिए आवेदन किया जाएगा.

आक्यूपेशन सर्टिफिकेट जरूरी

खाली प्लॉट पर नक्शा पास होने के बाद भवन निर्माण किया जाता है. भवन निर्माण नियमों के अनुसार बना है तो विभाग आक्यूपेशन सर्टिफिकेट जारी करता है. अगर भवन नियमों के अनुसार नहीं बना है तो उसको आक्युपेशन सर्टिफिकेट जारी नहीं किया जाता है. बिना आक्युपेशन सर्टिफिकेट भवन को इस्तेमाल नहीं किया जा सकता.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading