पानीपत में खुला HRT सेंटर, एड्स के मरीजों को मिल सकेगी निशुल्क दवाएं

पानीपत में एचआरटी सेंटर का उद्घाटन हरियाणा एड्स कंट्रोल सोसाइटी की प्रोजेक्ट डायरेक्टर डॉ. वीणा सिंह ने किया.

पानीपत में एचआरटी सेंटर का उद्घाटन हरियाणा एड्स कंट्रोल सोसाइटी की प्रोजेक्ट डायरेक्टर डॉ. वीणा सिंह ने किया.

डॉक्टर वीणा सिंह ने बताया कि अब पानीपत में भी एआरटी सेंटर शुरू किया गया है. जिससे एड्स के मरीजों को निशुल्क जांच व दवा की सुविधा मिल सकेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2021, 6:02 PM IST
  • Share this:
पानीपत. पानीपत जिले (Panipat District) के सामान्य अस्पताल में चिकित्सा सुविधाएं दिनोंदिन बढ़ रही हैं. अब एड्स के मरीजों (AIDS patients) को दवा के लिए शहर से बाहर नहीं जाना पड़ेगा क्योंकि शहर में एआरटी सेंटर (HRT Center) शुरू किया गया है. यहां एड्स के मरीजों को निशुल्क दवा मिल सकेगी. हरियाणा एड्स कंट्रोल सोसाइटी (Haryana AIDS Control Society) की प्रोजेक्ट डायरेक्टर डॉ. वीणा सिंह ने इसका उद्घाटन किया है.

हरियाणा एड्स कंट्रोल सोसाइटी की प्रोजेक्ट डायरेक्टर डॉ. वीणा सिंह ने आज सामान्य नागरिक अस्पताल में एंटी रिट्रो वायरल थेरेपी (एआरटी) सेंटर का उद्घाटन किया. इससे अब एचआईवी पीड़ित मरीजों को इस नागरिक अस्पताल में ही बेहतर इलाज मिलेगा. अभी तक एचआईवी मरीजों को पीजीआई रोहतक व दिल्ली के अस्पतालों में जाना पड़ता था. उन्होंने कहा कि बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिन्हें एड्स की जांच कराने में झिझक होती है. ऐसे लोगों को अब सेंटर के सलाहकारों से सटीक मार्गदर्शन मिल सकेगा.

पत्रकारों से बातचीत में डॉक्टर वीणा सिंह ने बताया कि अब पानीपत में भी एआरटी सेंटर शुरू किया गया है. जिससे एड्स के मरीजों को निशुल्क जांच व दवा की सुविधा मिल सकेगी. एआरटी के मरीजों में इनके सेवन से बीमारी थम तो जाती है, पर समाप्त नहीं होती, जिसके कारण इसका सेवन जीवनभर नियमित रूप से करना होता है. उन्होंने कहा कि जिन मरीजों को एआरटी सेंटर जाना पड़ता है, उन्हें और उनके साथ जाने वाले परिजन को प्रशासन की तरफ से बस व ट्रेन के किराए पर भी छूट दी जाती है. शारीरिक कमजोरी के चलते उन्हें यात्रा करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. अब उन्हें स्वास्थ्य विभाग की टीम लेकर आएगी. वीणा सिंह ने कहा एड्स के मरीजों से दूरी बनाने की जरूरत नहीं है. ऐसे मरीजों का हौसला बढ़ाना चाहिए. ताकि वे जल्द ठीक हो सकें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज