किसान नेता गुरनाम चढूनी बोले- देश में नहीं है कोरोना, BJP के हिसाब से आता है कोविड

चढूनी ने कहा कि जहां-जहां चुनाव है वहां लोगों से अपील करेंगे कि बीजेपी को वोट न दे.

चढूनी ने कहा कि जहां-जहां चुनाव है वहां लोगों से अपील करेंगे कि बीजेपी को वोट न दे.

Kisan Aandolan: गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने बीजेपी समेत जेजेपी व केंद्र में बैठे बीजेपी के नेताओं को पार्टी छोड़कर अपने साथ आने की अपील की है.

  • Share this:
पानीपत. पिछले 4 महीने से किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी (Gurnam Singh Chadhuni) रविवार को पानीपत टोल प्लाजा पर पहुंचे. जहां उन्होंने इस मौके पर मलोट में बीजेपी विधायक (BJP MLA) के कपड़े फाड़े जाने और विरोध को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि बार-बार अपील करने के बावजूद भी बीजेपी और जेजेपी के नेता और विधायक, मंत्री कार्यक्रम करने से बाज नहीं आ रहे हैं तो वही इन नेताओं के प्रति आम जनता और किसानों में भारी रोष है. इसके चलते उन्हें भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि, गुरनाम सिंह ने बीजेपी नेताओं के कपड़े फाड़े जाने और पिटाई करने को गलत बताया.

कोरोना को लेकर कहीं सरकार किसान आंदोलन को खत्म न करवा दे इसको लेकर उन्होंने कहा कि जब आंदोलन शुरू हुआ था तब भी कोरोना था, तो क्या किसान रुक गया था. ये लोग झूठ बोल रहे हैं, कोरोना कोई बीमारी नहीं है, कोरोना एक बहुत बड़ा घोटाला है. उन्होंने कहा कि कोरोना बीजेपी के हिसाब से आता है.

गुरनाम सिंह ने बीजेपी समेत जेजेपी व केंद्र में बैठे बीजेपी के नेताओं को पार्टी छोड़कर अपने साथ आने की अपील की है. उन्होंने कहा कि दो चार साल अगर सत्ता का सुख भोग भी लेंगे तो क्या हो जाएगा जनता की नजरों में तो वह गिरते ही जा रहे हैं. गुरनाम सिंह ने देश में हो रहे पांच राज्यों के चुनाव में बीजेपी का सभी जगह सूपड़ा साफ होने की बात कही.

पानीपत में बीजेपी नेता द्वारा किसानों के समर्थन में बीजेपी को छोड़ने पर प्रतिक्रिया देते हुए गुरनाम सिंह बोले कि हम इनका धन्यवाद करते हैं और किसान यूनियन में स्वागत करते हैं. गुरनाम सिंह ने अन्य नेताओं को भी साथ आने का न्योता देते हुए कहा कि हमारे लिए पहले पार्टी नहीं देश पहले होना चाहिए. देश के प्रधानमंत्री तो देश को कंपनियों के हाथों में बेचने का काम कर रहे हैं जिसके बाद हर चीज प्राइवेट हो जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज