लाइव टीवी

जानिये क्यों, पानीपत की इस कॉलोनी में डर के साये में जीते हैं मां-बाप
Panipat News in Hindi

News18 Haryana
Updated: January 28, 2020, 6:58 PM IST
जानिये क्यों, पानीपत की इस कॉलोनी में डर के साये में जीते हैं मां-बाप
पानीपत में मासूम बच्चों के गायब होने का सिलसिला बदस्तूर जारी है. यही वजह है कि मां-बाप रो-रोकर जिंदगी काटने को मजबूर हैं. मां-बाप लगातार आला अधिकारियों के दरवाजे खटखटाक

पानीपत (Panipat) की एकता कॉलोनी से वर्ष 2016-2020 तक 6 बच्चे गायब (Missing Children) हुए जबकि अगर हम पानीपत की बात करें तो ये आंकड़ा सैकड़ों का है.

  • Share this:
पानीपत. पानीपत (Panipat) में मासूम बच्चों के गायब (Missing Children) होने का सिलसिला बदस्तूर जारी है. यही वजह है कि मां-बाप (Mother And Father) रो-रोकर जिंदगी काटने को मजबूर हैं. मां-बाप लगातार आला अधिकारियों के दरवाजे खटखटाकर थक कर बैठ चुके हैं. आलम यह है कि उनके घरों के चिरागों को तलाशने में आज तक किसी को कामयाबी नहीं मिली है. प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री ने भी दिया सिर्फ आश्वासन दिया है. इस मामले में पुलिस भी नाकामयाब रही है. कॉलोनीवासी बच्चों को घर से बाहर भेजने से डरने लगे हैं. हर मां-बाप को यह लगता है कि बच्चे अगर बाहर गए तो शायद लौटेंगे या नहीं, यह पता नहीं चलता है.

चार वर्ष में एकता कॉलोनी से गायब हुए छह बच्चे

पानीपत में क्राइम का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है और प्रशासन कार्रवाई के नाम का सिर्फ आश्वासन देकर पीड़ितों के जख्मों पर मलहम लगाने का काम करने की कोशिश में लगा रहता है. पानीपत की एकता कॉलोनी से वर्ष 2016-2020 तक 6 बच्चे गायब हुए जबकि अगर हम पानीपत की बात करें तो ये आंकड़ा सैकड़ों का है.

पानीपत से गायब हो चुके हैं सैंकड़ों बच्चे

परिजनों का कहना है कि उन्होंने अपनी तरफ से पुरजोर कोशिश की है. परिजनों ने इस बारे में पुलिस से लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से भी गुहार लगाई है. आश्वासन के अलावे यहां किसी को कुछ नहीं मिला है. परिजनों का कहना है कि प्रशासन को बार बार सूचित किया जाता है लेकिन अपहरण के बजाय गुमशुदगी की रिपोर्ट लिख ली जाती है.

(पानीपत से सुमित भारद्वाज की रिपोर्ट)

यह भी पढ़ें: चरखी दादरी जिले में 94 डॉक्टरों की दरकार पर सिर्फ 32 से चलाया जा रहा है काममहिला पुलिसकर्मी का अश्लील वीडियो हुआ वायरल, आरोपी कॉन्स्टेबल गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पानीपत​ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 6:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर