Panipat News: पानीपत में मजदूरों को सताने लगा लॉकडाउन का डर, लगातार कर रहे पलायन

कोरोना के चलते मजदूर अपने घरों को रवाना

कोरोना के चलते मजदूर अपने घरों को रवाना

Corona in Panipat: कहीं ना कहीं प्रवासी मजदूरों के मन में अंदेशा जरूर है कि कहीं पिछले साल की तरह वह लॉकडाउन में ना फंस जाएं.

  • Share this:
पानीपत. हरियाणा में लॉकडाउन (Lockdown) की आहट सुनाई देने लगी है. कोरोना वायरस (Corona Virus) की रफ्तार लगातार बढ़ रही है जिसके चलते आए दिन सैंकड़ों की संख्या में मामले सामने आ रहे हैं. लगातार बढ़ रहे मामला की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा नाइट कर्फ्यू लगाया गया है जिसके तहत रात्रि 10 से सुबह 5 बजे तक लोगों के बाहर निकलने पर मनाही है. हालांकि सरकार द्वारा लॉकडाउन की संभावना से साफ इनकार किया गया है. लेकिन कहीं ना कहीं प्रवासी मजदूरों के मन में अंदेशा जरूर है कि कहीं पिछले साल की तरह वह लॉकडाउन में ना फंस जाएं. इसलिए अपने गांव लौटने की होड़ लगी हुई है.

रोजाना प्रवासी मजदूर निजी बसों में अपने गंतव्य की ओर रवाना हो रहे निजी बसों में कोरोना गाइडलाइन की भी जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही है. एक बस में बुरी तरह से सवारियों को ठूंस-ठूंस कर भरा जा रहा है. प्रवासी मजदूर भी घर जाने की जल्दी में खतरा मोल लेने से नहीं घबरा रहे. उनका कहना है कि दिल्ली में लॉक डाउन लग गया है, यदि यहां भी लॉकडाउन लग गया तो वह यही फंस जाएंगे.

कुछ प्रवासी मजदूरों का यह भी कहना था कि पिछले साल की तरह पैदल गांव ना जाना पड़े इसलिए पहले ही अपने घर जा रहे हैं. जब उनसे कहा गया कि सरकार ने लॉकडाउन की संभावना से इनकार किया है तो उनका कहना था कि पहले भी धीरे-धीरे करके महीनों का लॉकडाउन लगा दिया गया था. फिलहाल आने वाले दिनों में क्या स्थिति होगी इसके बारे में तो अभी स्पष्ट रूप से कुछ नहीं कहा जा सकता. लेकिन इतना जरूर है कि कोरोना नियमों की अवहेलना जरूर भारी पड़ सकती है बसों में जो हालात नजर आ रहे हैं उसके परिणाम गंभीर हो सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज