पानीपत: तीन बच्‍चों की मौत का इंसाफ मांग रहे ग्रामीणों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज, दौड़ा-दौड़ा कर पीटा
Panipat News in Hindi

पानीपत: तीन बच्‍चों की मौत का इंसाफ मांग रहे ग्रामीणों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज, दौड़ा-दौड़ा कर पीटा
पुलिस ने किया लाठीजार्ज

पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा. इस दौरान महिला प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने नहीं छोड़ा.

  • Share this:
पानीपत. हरियाणा के पानीपत जिले के गांव बिंझौल में तीन मासूमों की हत्या (Murder) के मामले में रोष प्रदर्शन करने पहुंचे हजारों की संख्या में परिजन और ग्रामीणों पर पुलिस (Police) ने पहले वाटर कैनन मशीन से पानी की बौछारें की और उसके बाद भी लाठीचार्ज किया. इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा. इस दौरान महिला प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने नहीं छोड़ा.

ग्रामीणों ने पानीपत लघु सचिवालय के सामने जमकर प्रदर्शन किया और पानीपत पुलिस प्रशासन और खट्टर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. प्रदर्शन के दौरान बनी काफी तनावपूर्ण स्थिति हुई थी जिसके बाद पुलिस ने किया लाठीचार्ज और कई लोगों को हिरासत में लिया. परिजन और ग्रामीण दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग कर रहे थे.

12 लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज



बता दें कि बिंझौल गांव के अरुण, लक्ष्य और वंश की मौत हुई थी. 7 जुलाई को छह बच्‍चे ब्लीच हाउस में पतंग की डोर लेने गए थे. स्वजनों का आरोप है कि अरुण, वंश व लक्ष्य को केमिकल के टैंक में डुबोकर मार डाला. फिर शवों को रजवाहे में फेंक दिया. सागर, सचिन और  सावन ने भागकर जान बचाई. आठ मरला चौकी में ब्लीच हाउस संचालक सहित 12 लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज है.
नहीं हुई कार्रवाई तो लगाया जाम

आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से परिजनों ने रोष जताया और पुलिस प्रशासन पर मिलीभगत का  आरोप लगाया. इस मौके पर निर्णय लिया गया कि 21 सदस्यीय कमेटी सोमवार को एसपी मनीषा चौधरी से मिलेगी. अगर फिर भी पुलिस प्रशासन ने उनकी सुनवाई नहीं की तो कमेटी निर्णय लेगी. 19 तक हत्या आरोपितों को गिरफ्तार करने की मांग उठी. इतने दिन बाद भी कोई समाधान नहीं हुआ तो जाम लगा दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading