Home /News /haryana /

तालाब किनारे खेल रहे 2 मासूमों की दलदल में फंसकर मौत, नगर निगम की लापरवाही पर उठे सवाल

तालाब किनारे खेल रहे 2 मासूमों की दलदल में फंसकर मौत, नगर निगम की लापरवाही पर उठे सवाल

पानीपत में तालाब में डूबने से दो बच्चों की मौत.

पानीपत में तालाब में डूबने से दो बच्चों की मौत.

Panipat News: पानीपत के वार्ड 11 में स्थित सैनी तालाब के पास गंदगी की वजह से बना दलदल. खेलने के दौरान गेंद तालाब में गिरी तो दोनों बच्चे निकालने उतरे और गहरे पानी में चले गए, जिससे उनकी मौत हो गई.

    रिपोर्ट – सुमित भारद्वाज

    पानीपत. नगर निगम की लापरवाही का खामियाजा किस रूप में सामने आता है, इसका ताजा उदाहरण पानीपत में देखने को मिला है. शहर के वार्ड 11 में खेल-खेल में 2 बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई. दोनों बच्चे तालाब के पास खेल रहे थे, इसी दौरान उनकी गेंद तालाब में चली गई. तालाब किनारे इतनी गंदगी है कि वहां दलदल बन गया है. इसी दलदल में फंसकर दोनों बच्चों की मौत हो गई. गौरतलब है कि तालाब के पास की जमीन को नगर निगम ने EWS फ्लैट निर्माण के लिए वर्ष 2004 से रिजर्व कर रखा है. लेकिन तालाब की साफ-सफाई की ओर 17 साल से ध्यान नहीं दिया गया है, जिसके कारण यहां दलदल हो गया है.

    जानकारी के मुताबिक, तालाब में गेंद ढूंढने गए बच्चों का पैर फिसला और वे गहरे पानी में चले गए. उन्होंने निकलने की कोशिश भी की, लेकिन दलदल की वजह से उसी में फंसकर रह गए जिससे मासूमों की मौत हो गई. पास में खेल रहे अन्य बच्चों के शोर मचाने पर आसपास के लोग दौड़े, लेकिन तालाब में गिरे बच्चों को बचाया नहीं जा सका. स्थानीय शख्स राजेश ने बच्चों को ढूंढ कर बाहर निकाला.

    राजेश ने बताया कि वार्ड नंबर 11 स्थित सैनी कॉलोनी में तालाब की पिछले कई साल से सफाई नहीं हुई है. बरसात के दौरान तालाब का जलस्तर बढ़ जाता है, साथ ही आसपास भी पानी जमा हो जाता है. गंदगी के कारण यहां दलदल बन गया है. उन्होंने बताया कि 2004 में ईडब्ल्यूएस योजना के तहत फ्लैट बनवाने के लिए नगर निगम ने यहां की जमीन रिजर्व कर ली थी, लेकिन 17 साल बाद भी इस पर कुछ नहीं किया गया. गंदगी और दूषित पानी को लेकर कई बार स्थानीय लोग शिकायत भी करते हैं. बीते दिनों नगर निगम के कमिश्नर ने इस इलाके का दौरा भी किया था. उस समय पार्षद ने गंदगी की सफाई और पानी निकलवाने की मांग की थी, लेकिन निगम ने कोई कार्रवाई नहीं की. स्थानीय लोगों का आरोप है कि निगम की इसी लापरवाही की वजह से आज यह हादसा हुआ.

    हादसे के बाद परिजन दोनों बच्चों के शव निकालकर ले गए. बताया गया कि दोनों बच्चों की उम्र क्रमशः 13 साल व 11 साल थी. मौके पर पहुंचे पुलिस के जांच अधिकारी सतीश ने बताया कि यहीं रहने वाले महेंद्र के दोते थे. शाम 3 बजे के आसपास दोनों बच्चे खेलने आए थे, इसी दौरान तालाब के पानी में डूबने से दोनों की मौत हो गई.

    Tags: Child's death, Municipal Corporation

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर