'मन की बात' में प्रधानमंत्री से बात कर खुश हैं पानीपत की कृतिका नांदल, इसे बताई अपनी उपलब्धि
Panipat News in Hindi

'मन की बात' में प्रधानमंत्री से बात कर खुश हैं पानीपत की कृतिका नांदल, इसे बताई अपनी उपलब्धि
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मासिक कार्यक्रम 'मन की बात' में पानीपत की रहने वाली कृतिका नांदल से फोन पर बातचीत की

'मन की बात' (Mann Ki Baat) में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के साथ बातचीत में कृतिका नांदल (Kritika Nandal) ने कहा कि उनकी मां उनकी प्रेरणा हैं, जिन्होंने उन्हें हर चीज का नॉलेज दिया है. कृतिका ने कहा कि वो आगे चलकर एमबीबीएस डॉक्टर बनना चाहती हैं और लोगों की सेवा करना चाहती हैं

  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने इसी साल 22 जनवरी को हरियाणा के पानीपत (Panipat) की धरती से 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' का नारा दिया था. आज वो नारा पानीपत में सार्थक होता दिखाई दे रहा है. रविवार को अपने 'मन की बात' कार्यक्रम (Mann Ki Baat) में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पानीपत के महराणा गांव की कृतिका नांदल (Kritika Nandal) से लाइव बातचीत की. पीएम मोदी (PM Modi) ने कृतिका नांदल से उनकी पढ़ाई-लिखाई से लेकर उनके जीवन यापन और परिवार के बारे में चर्चा की. प्रधानमंत्री ने इस दौरान उनसे पूछा कि उनकी प्रेरणा कौन है और वो आगे क्या करना चाहती हैं. जवाब में कृति नांदल ने कहा कि उनकी मां उनकी प्रेरणा हैं, जिन्होंने उन्हें हर चीज का नॉलेज दिया है. कृतिका ने कहा कि वो आगे चलकर एमबीबीएस डॉक्टर बनना चाहती हैं और लोगों की सेवा करना चाहती हैं.

रविवार को 'मन की बात' कार्यक्रम के प्रसारण बाद न्यूज़ 18 ने कृतिका नांदल से बातचीत की तो उन्होंने कहा कि उन्हें देश के मुखिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत कर बेहद खुशी महसूस हो रही है. उन्हें विश्वास नहीं हो रहा कि पीएम मोदी ने उन्हें फोन किया. वो खुशी के मारे उछल पड़ीं और सोचने लगीं कि क्या वो सच में देश के प्रधानमंत्री से बात कर रही हैं. हालांकि उन्होंने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी से बात करने से पहले कुछ अधिकारी उनके घर आए थे, और बहुत सारे फोन कॉल भी उनके पास आए थे.

कृतिका ने बताया कि आज देश के प्रधानमंत्री ने उनसे बातचीत की है. उनका व्यवहार उन्हें बहुत अच्छा लगा. वो बच्चों से बहुत प्यार से बात करते हैं. कृतिका ने कहा कि वो आगे चलकर एमबीबीएस डॉक्टर बनना चाहती हैं. इस मौके पर जब हमने कृतिका की मां से बात की तो वो भी बेहद खुश नजर आईं. उन्होंने कहा कि जो सपना मैंने देखा था आज मेरी बेटी ने उसे सिर्फ मेरे लिए ही नहीं बल्कि पूरे गांव, पूरे जिले और पूरे प्रदेश के लिए पूरा कर के दिखाया है.



कृतिका नांदल का सपना बड़ी होकर एमबीबीएस डॉक्टर बनना है और जरूरतमंद लोगों की सेवा करना है

कृतिका की कामयाबी पर बधाई देने वालों का लगा तांता 

वहीं रविवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम को सुनने के लिए पानीपत ग्रामीण हलके से विधायक महिपाल ढांडा भी यहां पहुंचे थे. उन्होंने कृतिका नांदल के घर पर बैठ कर इसे सुना और कृतिका को उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी. कृतिका ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम को सुनने के लिए पानीपत ग्रामीण हलके से विधायक महिपाल ढांडा भी यहां पहुंचे थे. उन्होंने मेरे घर पर बैठ कर इसे सुना. साथ ही उन्होंने मुझे उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी. कृतिका के मुताबिक ढांडा ने कहा कि वो हर हर संभव मदद करेंगे. इसके अलावा महिपाल ढांडा ने 'मन की बात' कार्यक्रम सुनने के दौरान ही कृतिका नांदल को 11 हजार रुपए देने की अनाउंसमेंट की.

इससे पहले जैसे ही ग्रामीणों को पता चला कि रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कृतिका नांदल से बातचीत करेंगे. तो पूरे गांव से उसे और उसके परिवार को बधाई देने वालों का तांता लग गया. रिश्तेदारों के अलावा पानीपत जिला प्रशासन के अधिकारियों का भी बधाई संदेश आने लगा. इसी कड़ी में जिला उपायुक्त धर्मेंद्र सिंह और तहसीलदार भी रविवार को कृतिका नांदल को बधाई देने उसके घर पहुंचे.

12वीं की परीक्षा में 96 प्रतिशत अंक हासिल किए

बता दें कि कृतिका नांदल ने कठिन परिस्थितियों में डीएवी पुलिस लाइन स्कूल में पढ़ कर 12वीं की परीक्षा में 96% अंक हासिल किया है. उसने अपनी मेहनत से यह साबित कर दिखाया है कि लड़कियां लड़कों से कम नहीं होती.

वहीं कृतिका की मां ने बताया कि पति की मौत होने के बाद उन्होंने अपने परिवार को संभाला है. हालांकि घर में कृतिका के दादाजी हैं जो परचून की दुकान चलाते हैं. कृतिका की मां घर में मौजूद एक भैंस का दूध बेच कर और छोटा-मोटा सिलाई का काम कर घर का गुजारा चलाती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading