Home /News /haryana /

पानीपत: मंदिर का पुजारी ही निकला अपने बेटे का हत्यारा, पुलिस से बताई हत्या की चौंकाने वाली वजह

पानीपत: मंदिर का पुजारी ही निकला अपने बेटे का हत्यारा, पुलिस से बताई हत्या की चौंकाने वाली वजह

हरियाणा के पानीपत में पुलिस ने एक पुजारी को गिरफ्तार किया है, जिसने अपने ही बेटे की हत्या की है.

हरियाणा के पानीपत में पुलिस ने एक पुजारी को गिरफ्तार किया है, जिसने अपने ही बेटे की हत्या की है.

Haryana Murder Case: हरियाणा के पानीपत में समालखा मंदिर में रहने वाला पुजारी ही अपने बेटे का हत्यारा निकला. पुजारी पिता ने हत्या की वारदात को अंजाम 3 नवंबर को दिया था. बेटा आदित्य पिता के कहने से नही कोई काम नहीं करता था. बल्कि उनसे बहस करता था, जिसके चलते बेटे को मौत के घाट उतार दिया. हत्या के बाद पिता ने 4 नवंबर को चौकी में जाकर गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी. 3 तारीख को कलयुग पिता ने ही समालखा से 15 किलोमीटर दूर खेतों में ले जाकर अपने ही बेटे को मौत के घाट उतार दिया. पुलिस ने आरोपी को माननीय न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज गया.

अधिक पढ़ें ...

    सुमित भारद्वाज

    पानीपत. हरियाणा के पानीपत में समालखा मंदिर में रहने वाला पुजारी ही अपने बेटे का हत्यारा निकला. पुजारी पिता ने हत्या की वारदात को 3 नवंबर को अंजाम दिया था. बेटा आदित्य पिता के कहने से नही कोई काम नहीं करता था. बल्कि उनसे बहस करता था, जिसके चलते पुजारी पिता ने बेटे को मौत के घाट उतार दिया. बेटे को मौत के घाट उतारने के बाद पिता ने 4 नवंबर को चौकी में जाकर गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी.

    पुजारी की पत्नी को ही उस पर शक हुआ तो पुलिस ने गिरफ्तार किया और जब रिमांड पर लेकर पूछताछ की तो पूरी वारदात का खुलासा कर दिया. कलयुगी पिता ने ही समालखा से 15 किलोमीटर दूर खेतों में ले जाकर अपने ही बेटे को मौत के घाट उतार दिया. पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज गया.

    पुलिस के मुताबिक, कलयुगी बाप ने छोटी दीपावली के दिन अपने 15 वर्षीय बेटे को घर से ले जाकर गन्ने के खेत में गला दबा कर उसे मौत के घाट उतार दिया. घटना का खुलासा करीब 11 दिन बाद पत्नी के शक करने पर हुआ. कलयुगी बाप ने बेटे की हत्या के बाद चौकी में बेटे की गुमशुदगी होने की शिकायत भी दी थी. थाना प्रभारी इंस्पेक्टर नरेन्द्र ने बताया कि 4 नवंबर को चौकी समालखामें राधाकृष्णा मंदिर खटीक मोहल्ला ब्लूजे रोड पर रहने वाले डालचन्द उर्फ घनश्याम शास्त्री ने अपने बेटे 15 वर्षीय आदित्य त्रिपाठी का गुमशुदगी का केस दर्ज किया था.

    पुजारी ने बेटे की हत्या कर पुलिस में दे दी गुमशुदगी

    थाना प्रभारी ने बताया कि 14 नवंबर को गुमशुदा लड़के आदित्य की मां ने चौकी समालखा में आकर अपने पति पर शक जाहिर किया था. जो शक के आधार पर पुलिस ने उसके पति डालचन्द को सख्ती से पूछताछ की तो उसके पति ने बताया कि उसका लड़का आदित्य उसके कहने से काम नहीं करता था. बात-बात पर उसके साथ बहस करता था. जिससे वह काफी तंग आ चुका था.

    पुलिस को पुजारी ने बताया कि उसने 3 नवंबर छोटी दिवाली वाले दिन अपने लड़के आदित्य को अपनी बाइक पर बैठाकर समालखा से करीब 15 किलोमीटर दूर गांव पत्थरगढ यमुना नदी साइड के खेतों के रास्ते जाकर गन्ने के खेत में अंदर ले जाकर गला घोटकर हत्या कर दी. उसके शव को वही डालकर आ गया था. उसी दिन से वह बेचैन था और किसी से बात नहीं करता था. जिस पर उसकी पत्नी ने लड़के के गायब होने पर उसके ऊपर शक सा करने लगी थी. इंस्पेक्टर नरेंद्र ने बताया कि आरोपी डालचंद को न्यायालय में पेश करके दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया. रिमांड की अवधि समाप्त होने पर डालचंद को कोर्ट द्वारा जेल भेज दिया है.

    Tags: Haryana news, Haryana police

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर