Panipat News: प्रिंसिपल ने दो अध्यापकों के साथ छात्र को कमरे में बंदकर डंडों से पीटा, केस दर्ज

पानीपत के एक सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल ने अध्यापकों के साथ मिलकर एक छात्र को बेरहमी से पीटा.

पानीपत के एक सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल ने अध्यापकों के साथ मिलकर एक छात्र को बेरहमी से पीटा.

Haryana: पानीपत के एक गांव में ममेरे भाई पर की गई टिप्पणी का विरोध करने पर सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल ने दो शिक्षकों ने साथ मिलकर 10वीं के छात्र की बेरहमी से पिटाई कर दी. शिकायत में आरोप लगाया गया है कि तीनों ने छात्र को आधा घंटा तक कमरे में बंद करके डंडों व फट्टी से पीटा.

  • Last Updated: March 28, 2021, 10:35 PM IST
  • Share this:
पानीपत. हरियाणा के पानीपत के एक गांव में ममेरे भाई पर की गई टिप्पणी का विरोध करने पर सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल को ने अपने दो अध्यापकों के साथ मिलकर 10वीं के छात्र कबड्डी खिलाड़ी की बेरहमी से पिटाई कर दी. शिकायत में आरोप लगाया गया है कि तीनों ने छात्र को आधा घंटा तक कमरे में बंद करके डंडों व फट्टी से मारा. पुलिस ने छात्र की शिकायत पर तीनों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है.

जानकारी के मुताबिक, पानीपत जिले के गांव गोयला खुर्द में स्थित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय का मामला है. जहां पर एक छात्र को कमरे में बंद करके जमकर पीटा गया. छात्र का कसूर ये था कि उसने अपने ममेरे भाई पर शिक्षक द्वारा की गई एक टिप्पणी का विरोध कर दिया था. उसके बाद से ही टीचर उससे रंजिश रख रहे थे. छात्र ने अपने पिता को इस बारे में बताया तो पिता ने आरोपियों टीचर के खिलाफ पुलिस में शिकायत कर दी. पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो मामले की शिकायत एसपी व सीडब्ल्यूसी को दी गई. इसके बाद मामले में आरोपियों पर केस दर्ज किया गया.

एसपी को दी शिकायत में गोयला खुर्द निवासी ट्रक चालक सुरेंद्र ने बताया था कि उसका छोटा बेटा सरकारी स्कूल में 10वीं कक्षा का छात्र है. इसके साथ ही गत दिनों पहले उसके साले का लड़का आठवीं कक्षा में दाखिला लेने के लिए स्कूल गया था, तो एक अध्यापक ने उसके सफेद बाल देखकर उस पर टिप्पणी कर दी थी. इस पर उसके बेटे ने इसका विरोध किया था. तब अध्यापक ने बेटे के साथ मारपीट की और उसे स्कूल से निकाल दिया. पिता ने बताया कि इसके साथ ही उसका बेटा कबड्डी खिलाड़ी भी है, जिस वजह वह खेलने के लिए प्रतियोगिताओं में जाता रहता है. स्कूल में अनुपस्थिति होने की वजह से अध्यापक उसके साथ मारपीट करते थे. इसी वजह बेटा पिछले 12 दिन तक स्कूल भी नहीं गया.

पिता ने आरोप लगाते हुए बताया कि जब उसका बेटा 13वें दिन स्कूल गया तो प्रिंसिपल उसे स्टाफ रूम में ले गए. जहां पहले से ही दो अध्यापक मौजूद थे. जिन्होंने उसके साथ फट्टी से मारपीट की. छात्र ने बताया कि वह 13वें दिन स्कूल में गया तो कक्षा के अध्यापक ने उसे प्रिंसिपल से कक्षा में पढ़ाई करने की अनुमति लेने के बहाने दफ्तर भेज दिया. जब वह दफ्तर में पहुंचा तो प्रिंसिपल उसे स्टाफ रूम में लिखित रूप से परमिशन देने का झांसा देकर उसे स्टाफ रूम ले गया. जहां पर दो अध्यापक हाथ में डंडा लेकर खड़े हुए थे, जिन्होंने उसके साथ जमकर मारपीट की और उसे स्कूल से निकाल दिया. स्कूल से बाहर निकलते ही अध्यापकों ने उसकी फोटो भी खींची.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज