पानीपत नगर निगम में 13.70 लाख की रिश्वत लेते सेनेटरी इंस्पेक्टर को पकड़ा गया

(सांकेतिक तस्वीर)

(सांकेतिक तस्वीर)

भ्रष्टाचार के कारण सुर्खियों में रहने वाला पानीपत नगर निगम फिर आया सुर्खियों में रोहतक (Rohatak) विजिलेंस की टीम ने पानीपत के चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर सुधीर को 13 लाख 70 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया.

  • Share this:

पानीपत. भ्रष्टाचार के कारण सुर्खियों में रहने वाला पानीपत नगर निगम फिर आया सुर्खियों में रोहतक (Rohatak) विजिलेंस की टीम ने पानीपत के चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर सुधीर को 13 लाख 70 हजार  रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया. रोहतक विजिलेंस के डीएसपी नरसिंह के नेतृत्व में टीम ने पानीपत में रेड की. आरोपी के खिलाफ करनाल विजिलेंस में मुकदमा दर्ज होगा. फिलहाल आरोपी को पानीपत के सिटी थाने में लाया गया. डीएसपी विजिलेंस ने बताया कि शिकायत के बाद रोहतक विजिलेंस ने पानीपत नगर निगम में तैनात सेनेटरी इंस्पेक्टर को 13:70 लाख की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है. विजिलेंस मामले की जांच कर रही है.

रोहतक विजिलेंस डीएसपी नरसिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि कृष्ण हुड्‌डा प्राइवेट इंटरप्राइजेज के पास पानीपत में सफाई को ठेका है. इसमें सफाई कंपनी JBM भी शामिल है. कोरोना काल में उन्हें काम की पेमेंट नहीं की गई, लेकिन काम चलता रहा. जिस कारण पेमेंट बढ़ती गई. अब पानीपत नगर निगम पर सफाई का करीब 1.37 करोड़ रुपए बकाया हो चुका है. आरोप है कि इस पेमेंट के भुगतान के लिए पानीपत नगर निगम में तैनात सेनेटरी इंस्पेक्टर सुधीर कुमार ने लाखों रुपए की रिश्वत मांगी. 13.70 लाख रुपए में सौदा हो गया. इस दौरान कंपनी के मालिक कृष्ण हुड्‌डा ने मामले की शिकायत रोहतक विजिलेंस से कर दी.

रंगे हाथों गिरफ्तार

सोमवार को रोहतक विजिलेंस ने सेनेटरी इंस्पेक्टर सुधीर कुमार को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया. विजलेंस के डीएसपी नरसिंह ने कहा कि आरोपी के खिलाफ करनाल विजलेंस में मुकदमा दर्ज कर आरोपी को सिटी थाना के हवाले किया गया, जहां से आज आरोपी को कोर्ट में पेश किया जाएगा. फिलहाल इस मामले में नगर निगम और पुलिस अधिकारी बोलने से बचते रहे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज