Panipat : बच्चों से पूरी फीस और शिक्षकों की सैलरी कटौती! स्कूल प्रबंधन के खिलाफ 8वें दिन भी धरना जारी

एसडी विद्या मंदिर के शिक्षक कह रहे हैं कि वे पहले दिन से यहां पढ़ा रहे हैं, पर अब उन्हें निकालने की भी धमकी दी जा रही है, (सांकेतिक तस्वीर)

एसडी विद्या मंदिर के शिक्षक कह रहे हैं कि वे पहले दिन से यहां पढ़ा रहे हैं, पर अब उन्हें निकालने की भी धमकी दी जा रही है, (सांकेतिक तस्वीर)

एसडी विद्या मंदिर में सैलरी में कटौती किए जाने के खिलाफ टीचरों का धरना 8वें दिन भी जारी है. शिक्षकों का आरोप है कि विद्यालय बच्चों से पूरी फीस ले रहा है, लेकिन उनकी सैलरी काट रहा है. मांग पूरी नहीं होने तक वे विरोध जारी रखेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 6, 2021, 8:23 PM IST
  • Share this:
पानीपत. पानीपत (Panipat) के एसडीवीएम (SD Vidya Mandir) स्कूल के अध्यापकों (teachers) ने स्कूल प्रबंधन (School management) के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. सैलरी (Salary) में कटौती किए जाने जैसे मामलों को लेकर अध्यापकों ने स्कूल के बाहर धरना शुरू कर दिया. 8 दिन से जारी धरने के बाद विद्यालय प्रबंधन ने उनकी मांगें नहीं मानी, जिसके बाद अध्यापकों ने जमकर नारेबाजी की. यहां धरना दे रहे शिक्षकों का आरोप है कि विद्यालय बच्चों से पूरी फीस ले रहा है, लेकिन अध्यापकों की सैलरी काटी जा रही है. मांग पूरी नहीं होने तक वह विरोध प्रदर्शन (strike) करेंगे.

8 दिनों से जारी है धरना

दरअसल, पानीपत की प्रमुख शिक्षण संस्था द्वारा संचालित एसडी विद्या मंदिर के शिक्षक अपनी मांगें मनवाने के लिए पिछले 8 दिनों से धरने पर बैठे हैं. उनके धरने के बाद अभी भी कोई समाधान नहीं निकला है. जबकि सोसायटी का एक धड़ा टीचरों की मांगों के साथ खुलकर सामने आया है. सोसायटी के पूर्व चेयरमैन व अन्य सदस्यों ने भी टीचरों की मांग पूरी करने के लिए मौजूदा प्रबंधन पर दबाव डाला है. उन्होंने कहा कि टीचरों की मांगें जायज हैं और यह मानी जानी चाहिए. अब यह देखना है धरने पर बैठे टीचरों के साथ मौजूदा प्रबंधन किस तरह का रुख अख्तियार करता है.

शिक्षकों को मिल रही हटाने की धमकी
टीचरों ने स्कूल प्रबंधन पर वेतन न देने का आरोप लगाते हुए कहा कि वे लोग पिछले लगभग 25-25 सालों से स्कूल में कार्यरत हैं. इसके बाद भी प्रबंधन द्वारा लगातार उन्हें बाहर का रास्ता दिखाए जाने की धमकी दी जा रही है. उन्होंने कहा कि विद्यालय प्रबंधन अभिभावकों से बच्चों की पूरी फीस ले रहा है, लेकिन उन्हें पूरा वेतन नहीं दिया जा रहा. स्कूल प्रबंधन पर तानाशाह रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें जबरन लेटर पर साइन करने के लिए कहा जा रहा है. उन्होंने कहा कि विद्यालय प्रबंधन को भगवान जल्द सद्बुद्धि दे. उनका धरना मांग पूरी नहीं होने तक जारी रहेगा.

बच्चों को पढ़ाने के बाद काटी जा रही सैलरी

प्रबंधन के खिलाफ धरना दे रहे शिक्षक वेद और शकुंतला गर्ग ने कहा कि वे पहले दिन से ही बच्चों को पढ़ा रहे हैं. लेकिन फिर भी स्कूल प्रशासन उनकी ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है. लगातार उनकी सैलरी में कटौती की जा रही है. टीचरों ने कहा मांगें पूरी होने तक उनका धरना प्रदर्शन जारी रहेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज