अपना शहर चुनें

States

पानीपत: घर के ऊपर से जा रही हाईटेंशन तार की चपेट में आने से 6 बहनों के इकलौते भाई की मौत

पानीपत में दर्दनाक हादसा
पानीपत में दर्दनाक हादसा

पुलिस (Police) ने बिजली विभाग और कॉलोनाइजर के खिलाफ धारा 304 ए के तहत लापरवाही का मुकदमा (Case) दर्ज कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2020, 7:46 AM IST
  • Share this:
पानीपत. जिले के बापौली खंड स्थित कथित अवैध दुर्गा कॉलोनी में रह रहा 6 बहनों इकलौता भाई और 2 साल के मासूम का पिता उस वक्त मौत (Death) का शिकार हो गया जब वो 11000 वोल्ट की तार की चपेट में आ गया. परिजनों ने युवक की मौत का जिम्मेदार बिजली विभाग (Electricity Department) और कॉलोनाइजर रविंद्र कटारिया को बताते हुए उन पर आरोप लगाया. परिजनों का कहना है कि घर की छत के ऊपर से 11000 वोल्टेज की तार गुजरी हुई थी जिसकी चपेट में आने से 29 वर्षीय युवक की जान चली गई.

उन्होंने बताया की इन तारों को हटाने के लिए वह कॉलोनाइजर और बिजली विभाग को कई बार लिख चुके थे. लेकिन इसके बावजूद भी किसी ने कोई सुनवाई नहीं की और आज युवक की मौत हो गई. युवक की मौत से परिजनों पर गहरा सदमा पहुंचा है क्योंकि युवक छह बहनों का इकलौता भाई था और उसका खुद का 2 साल का एक मासूम सा बच्चा भी था. परिजनों का इस हादसे के बाद रो रो कर बुरा हाल है. परिजनों ने बिजली विभाग के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग की है.

छत पर तौलिया सुखाने गया था मृतक



मृतक के चचेरे भाई अमित ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि शुक्रवार सुबह करीब नौ बजे सुनील मकान की छत पर तौलिया सुखाने गया था. छत से करीब नौ फीट ऊंचाई से गुजर रही लाइन से तौलिया छू गया और उसे करंट लग गया. झुलसने से वह बेहोश होकर गिर गया. परिजन उसे अस्पताल ले जाने लगे लेकिन रास्ते में दम तोड़ दिया. सिविल अस्पताल के चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया.
पुलिस ने दर्ज किया मामला

वहीं मामले को लेकर जांच अधिकारी ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि करंट लगने से किसी युवक की मौत हो गई है. घटनास्थल पर पहुंचने के बाद शव को कब्जे में लिया और परिजनों के बयानों पर बिजली विभाग और कॉलोनाइजर के खिलाफ धारा 304 ए के तहत लापरवाही का मुकदमा दर्ज कर दिया है और गहनता से जांच शुरू कर दी है. जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज