• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • पानीपत के किसानों ने भरी हुंकार, कहा- सरकार ने लाठीचार्ज कर जलियांवाला बाग को दोहराया

पानीपत के किसानों ने भरी हुंकार, कहा- सरकार ने लाठीचार्ज कर जलियांवाला बाग को दोहराया

करनाल में होने वाली किसान महापंचायत में शामिल होने के लिए पानीपत के किसानों ने हुंकार भरी है.

करनाल में होने वाली किसान महापंचायत में शामिल होने के लिए पानीपत के किसानों ने हुंकार भरी है.

Karnal Kisan Mahapanchayat: करनाल में होने वाली किसान महापंचायत को लेकर जिले के किसान पानीपत टोल प्लाजा पर एकत्रित हुए. सैकड़ों की संख्या में करनाल के लिए रवाना हो गए हैं.

  • Share this:

सुमित भारद्वाज

पानीपत. हरियाणा के करनाल महापंचायत के लिए पानीपत के किसानों ने भी भरी हुंकार. किसानों ने कहा कि जब तक लाठीचार्ज मामले में किसानों को न्याय नहीं मिल जाता है, तब तक धरना जारी रहेगा. पानीपत टोल प्लाजा से किसान करनाल महापंचायत में भाग लेने के लिए रवाना हो चुके हैं. भारतीय किसान यूनियन जिला अध्यक्ष सोनू मालपुर और भारतीय किसान यूनियन चढूनी ग्रुप जिलाध्यक्ष सुधीर जाखड़ की अगुवाई में किसानों का जत्था रवाना हुआ. किसान नेताओं ने सभी किसानों से की अपील शांतिपूर्वक प्रदर्शन में भाग लें.

करनाल में होने वाली किसान महापंचायत को लेकर जिले के किसान पानीपत टोल प्लाजा पर एकत्रित हुए. सैकड़ों की संख्या में करनाल के लिए रवाना हुए. करनाल जाने से पूर्व भारतीय किसान यूनियन के प्रधान सोनू मालपुरिया ने कहा कि देशभर का किसान संगठित हो चुका है. जिसके चलते अब सरकार से आर-पार की लड़ाई करने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा किसानों पर कृषि कानूनों को ठोकर अत्याचार किया जा रहा है, जिसे अब देश का किसान सहन नहीं करेगा. सरकार लाठीचार्ज के जरिए किसानों की आवाज को दबाना चाहती है लेकिन अब 36 बिरादरी किसानों के साथ है.

लघु सचिवालय का घेराव करने के लिए हजारों किसान पहुंचेंगे

वहीं, दूसरी ओर भारतीय किसान यूनियन चढूनी ग्रुप के जिला प्रधान सुधीर जाखड़ ने कहा कि करनाल में लघु सचिवालय का घेराव करने के लिए हजारों की संख्या में किसान पहुंचेंगे. उन्होंने कहा कि मौजूदा गठबंधन सरकार घबराई हुई है. जिसके चलते सरकार किसानों को दबाने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपना रही है. बीते दिनों सरकार ने किसानों पर लाठीचार्ज करके जलियांवाला बाग कांड को दोहराया है, जिसके चलते किसानों में आक्रोश है. सरकार लोकतंत्र की आवाज को दबाना चाहती है लेकिन अब देश का किसान जाग चुका है. वह करनाल में लघु सचिवालय का घेराव जरूर करेंगे. चाहे इसके लिए उन्हें कितने भी बैरिकेट्स क्यों न तोड़ने पड़े.

ये बिना मांग का किसानों का सबसे बड़ा आंदोलन: संजय भाटिया
भिवानी पहुंचे भाजपा सांसद संजय भाटिया ने कांग्रेस के साथ किसान नेताओं व किसान आंदोलन को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होने कहा कि किसान आंदोलन देश का सबसे बड़ा आंदोलन है, पर ये बिना मांग का आंदोलन है. साथ ही कहा कि कांग्रेस में दम है तो खुद के नाम से आंदोलन करे. भाटिया ने कहा कि देश को कमजोर कर टुकड़े करने की सोचने वालों को मुंह की खानी पड़ेगी.
सांसद संजय भाटिया मीडिया से रूबरू हुये और कांग्रेस, किसान नेता व किसान आंदोलन पर निशाना साधा. भाटिया ने माना कि किसान आंदोलन आज तक का देश में सबसे बड़ा आंदोलन है. पर साथ ही कहा कि ये आंदोलन बिना मांग का है. क्योंकि कोई किसान नेता ये नहीं बता रहा कि क़ानूनों में ग़लत क्या है और वो क्या बदलाव चाहते हैं. उन्होंने कहा कि आंदोलन का नेतृत्व करने वाले यूपी के किसान नेता देख लें कि पंचायत चुनावों में वो अपने गांव में किस का समर्थन कर रहे थे और जीत भाजपा ने दर्ज कीण्

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज