Home /News /haryana /

पानीपत में खून से लथपथ घी व्यापारी को गाड़ी से अस्पताल नहीं ले जाने पर SI समेत तीन पुलिसकर्मी सस्पेंड

पानीपत में खून से लथपथ घी व्यापारी को गाड़ी से अस्पताल नहीं ले जाने पर SI समेत तीन पुलिसकर्मी सस्पेंड

पानीपत में एक घी व्यापारी को अपनी कार में अस्पताल नहीं ले जाने वाले एसआई समेत तीन पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई हुई है.

पानीपत में एक घी व्यापारी को अपनी कार में अस्पताल नहीं ले जाने वाले एसआई समेत तीन पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई हुई है.

Panipat Case: पानीपत SP शशांक कुमार सावन ने बताया कि सस्पेंड किए गए पुलिसकर्मियों पर आरोप था कि उन्होंने अपनी गाड़ी से घायल को ले जाने से इनकार कर दिया. पुलिस कर्मियों ने लोगों को कहा था कि अगर वे राजकुमार को इस हालत में गाड़ी में ले जाएंगे. उनकी नई गाड़ी खून से सन जाएगी. इसके बाद लोगों ने प्राइवेट वाहन का इंतजाम किया और उसे अस्पताल ले गए थे.

अधिक पढ़ें ...

सुमित भारद्वाज

पानीपत. पानीपत में घी व्यापारी को अस्पताल न ले जाने पर SI, कांस्टेबल और SPO पर बड़ी कार्रवाई की गई है. मामले की जांच के बाद एसपी शशांक कुमार सावन ने SI, कांस्टेबल और SPO को सस्पेंड कर दिया है. एसपी शशांक ने इस मामले में आरोपियों को पकड़ने के लिए एक लाख रुपये की घोषणा की है.

बता दें कि 4 जनवरी की शाम करीब साढ़े 6 बजे समालखा की मातापुली स्थित बाग वाला मोहल्ला में बाइक सवार दो बदमाशों ने घी व तेल व्यापारी राजकुमार उर्फ राजू को गोली मार दी थी. गोली मारने के बाद बदमाश व्यापारी से डेढ़ लाख भी लूट ले गए थे. इस मामले में डायल 112 पर कॉल की गई.

राजकुमार खून से लथपथ था, लेकिन जिंदा था

कॉल के तुरंत बाद मौके पर पुलिस की EVR पहुंच गई थी. जब पुलिस मौके पर पहुंची तो राजकुमार खून से लथपथ था और वह उस समय जिंदा था. लोगों ने पुलिस को कहा कि वे राजकुमार को अपनी ही गाड़ी में अस्पताल तक ले जाएं तो पुलिसकर्मियों ने मना कर दिया था.

पानीपत एसपी शशांक कुमार सावन ने बताया कि सुपर किए गए पुलिसकर्मियों पर आरोप था कि उन्होंने लोगों को कहा था कि अगर वे राजकुमार को इस हालत में गाड़ी में ले जाएंगे. उनकी नई गाड़ी खून से सन जाएगी. इसके बाद लोगों ने प्राइवेट वाहन का इंतजाम किया और उसे अस्पताल ले गए थे.

एसआई, सिपाही और एसपीओ सस्पेंड, SI के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश

पुलिसकर्मियों पर जो आरोप लगे थे, वह सत्य पाए गए, जिसके चलते मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी ने उक्त EVR के SI कर्मबीर, सिपाही सोमबीर और SPO को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है. इतना ही नहीं, कर्मबीर और सोमबीर के खिलाफ विभागीय जांच के भी आदेश दे दिए हैं.

इतना ही नहीं पानीपत एसपी शशांक कुमार सावन ने आरोपियों को पकड़ने के लिए पहले उनका CCTV वीडियो जारी किया फिर ₹1 लाख रुपये इनाम भी रखा गया. बहरहाल पुलिस मामले की गंभीरता से जांच करने और आरोपी की तलाश करने में जुटी हुई है, लेकिन अभी तक किसी भी आरोपी तक पहुंच नहीं पाई है.

Tags: Haryana news, Panipat News

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर