Home /News /haryana /

गवाह पर हमले के आरोप में आज फिर पानीपत कोर्ट में नारायण साईं की होगी पेशी

गवाह पर हमले के आरोप में आज फिर पानीपत कोर्ट में नारायण साईं की होगी पेशी

विवादित स्‍वयंभू संत आसाराम के बेटे नारायण साईं से संबंधित यौन शोषण मामले के मुख्य गवाह को महेंद्र चावला को 13 मई 2015 को अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी थी.

विवादित स्‍वयंभू संत आसाराम के बेटे नारायण साईं से संबंधित यौन शोषण मामले के मुख्य गवाह को महेंद्र चावला को 13 मई 2015 को अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी थी.

विवादित स्‍वयंभू संत आसाराम के बेटे नारायण साईं से संबंधित यौन शोषण मामले के मुख्य गवाह को महेंद्र चावला को 13 मई 2015 को अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी थी.

  • Pradesh18
  • Last Updated :
    महेंद्र चावला पर हमले के मामले में नारायण साईं की आज फिर से पानीपत कोर्ट में पेशी होगी. नारायण साईं पुलिस रिमांड पर था. हालांकि अब पुलिस रिमांड खत्म हो गई है. नारायण साईं पर दो बहनों का यौन शोषण करने का आरोप लगा था. इस मामले में महेंद्र चावला को मुख्य गवाह बनाया गया था.

    जानकारी के अनुसार, विवादित स्‍वयंभू संत आसाराम के बेटे नारायण साईं से संबंधित यौन शोषण मामले के मुख्य गवाह को महेंद्र चावला को 13 मई 2015 को अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी थी. महेंद्र चावला को पानीपत जिले के सनौली गांव में उनके घर के बाहर गोली मारी गई थी. गोली मारे जाने से पहले महेंद्र चावला ने अपनी जान को खतरा बताकर हरियाणा पुलिस से सुरक्षा मांगी थी.

    गौरतलब है कि आसाराम के बेटे नारायण साईं के खिलाफ गुजरात पुलिस ने महिला का यौन शोषण करने का मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया था. इस महिला ने आरोप लगाया था कि साईं ने सूरत स्थित आसाराम के आश्रम में 2002 से 2005 के बीच उसका यौन शोषण किया था.

    ज्ञात हो कि वहीं यौन शोषण मामले में जेल में बंद आसाराम बापू के बेटे नारायण साईं की पत्नी होने का दावा करने वाली महिला जानकी हरपलानी ने नारायण साईं की दो अवैध संतानें होने और उसके गुर्गों द्वारा धमकाने का आरोप लगाया था. उसने इंदौर पुलिस को दिए एक लिखित शिकायत में ये आरोप लगाए थे. जानकी हरपलानी ने अपनी शिकायत में कहा था कि उसकी नारायण साईं से 22 मई, 1997 को शादी हुई थी.

    उसका आरोप था कि आसाराम के इंदौर स्थित आश्रम में अनैतिक गतिविधियां चलती थीं, उसने इसका विरोध किया तो उसे मारा-पीटा गया. इतना ही नहीं उसे पत्नी का दर्जा भी नहीं मिला. जानकी ने यह भी आरोप लगाया था कि आश्रम में भक्ति की जगह शोषण होता था. नारायण साईं के कई महिला साधिकाओं से अवैध संबंध थे. नारायण साईं को दो महिलाओं से अवैध संतानें भी हैं.

    आपके शहर से (पानीपत​)

    पानीपत​
    पानीपत​

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर