खुशखबरी: अब दिल्ली से पानीपत की यात्रा केवल 45 मिनट में होगी पूरी

अब दिल्ली से पानीपत का रास्ता केवल 45 मिनट में होगा पूरा, 4 से 5 होंगे स्टेशन
अब दिल्ली से पानीपत का रास्ता केवल 45 मिनट में होगा पूरा, 4 से 5 होंगे स्टेशन

दिल्ली से पानीपत की 90 किलोमीटर तक की यात्रा अब केवल 45 मिनट में तय की जा सकेगी, क्‍योंकि रैपिड रेल कॉरिडोर प्रोजेक्ट का काम शुरू होने जा रहा है.

  • Share this:
पानीपत वासियों के लिए एक बड़ी खुशखबरी है. यहां के लोग जल्द ही देश की राजधानी दिल्ली की यात्रा महज 45 मिनट में तय कर लेंगे. दरअसल, प्रस्तावित रैपिड रेल कॉरिडोर प्रोजेक्ट का काम शुरू होने जा रहा है. इसके लिए नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन जमीन का सर्वे करवाने जा रही है. रैपिड ट्रेन हाईवे के साथ वाली जगह से चलाने की तैयारी है. यह हरियाणा की सीमा में पूरी तरह पिलर पर बने पुल के ऊपर से पानीपत पहुंचेगी. योजना के अनुसार, 4 से 5 स्टेशन बनाए जाएंगे. वहीं, भैंसवाल में 125 एकड़ जमीन पर इसका डिपो बनाया जाएगा. बता दें कि रैपिड ट्रेन चलाने की घोषणा वर्ष 2013 में ही की गई थी. इसके निर्माण के लिए हरियाणा सरकार को 2,129 करोड़ रुपए देने होंगे.

90 किलोमीटर पानीपत से दिल्ली की दूरी

रैपिड रेल दिल्ली से पानीपत करीब 90 किलोमीटर की दूरी तय करेगी. पानीपत जिला शहर योजना अधिकारी सुनैना ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि रैपिड रेल सराय काले खां से पानीपत के बीच चलेगी. उन्होंने बताया कि पानीपत से पट्टी कल्याण और भैंसवाल तक 29 किलोमीटर की जमीन ली जाएगी. उन्होंने कहा कि इससे व्यापर में वृद्धि होगी. दिल्ली से पानीपत तक इस पर 130 करोड़ प्रति किलोमीटर का अनुमानित खर्च आएगा.



एलिवेटेड रैपिड रेल कॉरिडोर बनाना तय
आपको बता दें कि पिछले साल जून में नई दिल्ली में हुई एनसीआर प्लानिंग बोर्ड की 36वीं बैठक में प्रोजेक्ट का रास्ता साफ हो गया है. बैठक में शहरी विकास एवं संसदीय मामलों के तत्कालीन केन्द्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने सीएम मनोहर लाल से इस बारे में चर्चा की और काम जल्द शुरू करने का निर्देश दिया. इस प्रोजेक्ट के निर्माण में नई जमीन खरीदना बड़ी चुनौती थी. ऐसे में इसका हल निकालते हुए अब हाईवे के साथ पूर्व की साइड में एलिवेटेड रैपिड रेल कॉरिडोर बनाना तय किया गया है.

यह कॉरिडोर एनसीआर से जुड़े 72 हजार करोड़ रुपए के आरआरटीएस का एक हिस्सा है. दिल्ली-अलवर (180 किमी ), दिल्ली-मेरठ (90 किमी) रैपिड ट्रेन प्रोजेक्ट भी इसमें शामिल है.

आरपी से कश्मीरी गेट तक अंडर ग्राउंड कॉरिडोर

नए प्लान के तहत सराय कालेखां से ट्रेन चलेगी. आरपी से कश्मीरी गेट तक अंडर ग्राउंड कॉरिडोर होगा. बुरानी स्टेशन, मुकरबा चौक, कुंडली और केएमपी रोड के पास राजीव गांधी एजुकेशन सिटी के सामने हाईवे के साथ पूर्व की तरफ स्टेशन बनेगा. मुरथल गन्नौर में पूर्व पश्चिम दोनों तरफ स्टेशन होंगे. हसनपुर के पास डिपो बनेगा. समाल खां में पावटी रोड पर पानीपत में एनएफएल के पास हरिद्वार बाइपास पर, मिनी सचिवालय के सामने स्टेशन बनेगा. फिर बरसत रोड से होते हुए ड्रेन-2 के पास भैंसवाल के पास अंतिम स्टॉपेज डिपो बनेगा.

ये भी पढ़ें:- चोरी छिपे सुनारिया जेल पहुंच रहे राम रहीम के समर्थक 

ये भी पढ़ें:- पत्नी और 2 बच्चियों की हत्या कर किए थे टुकड़े, कटे सिर बरामद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज