Home /News /haryana /

संसद का बजट सत्र आज से, गूंजेगा जेएनयू मुद्दा

संसद का बजट सत्र आज से, गूंजेगा जेएनयू मुद्दा

जेएनयू विवाद को लेकर कांग्रेस उपाध्‍यक्ष सोनिया गांधी सोमवार को आक्रामक दिखीं. कांग्रेस मंगलवार से शुरू हो रहे संसद के बजट सत्र में समान विचारधारा वाले दलों के साथ इस मुद्दे को जोरदार तरीके से उठाएगी.

जेएनयू विवाद को लेकर कांग्रेस उपाध्‍यक्ष सोनिया गांधी सोमवार को आक्रामक दिखीं. कांग्रेस मंगलवार से शुरू हो रहे संसद के बजट सत्र में समान विचारधारा वाले दलों के साथ इस मुद्दे को जोरदार तरीके से उठाएगी.

जेएनयू विवाद को लेकर कांग्रेस उपाध्‍यक्ष सोनिया गांधी सोमवार को आक्रामक दिखीं. कांग्रेस मंगलवार से शुरू हो रहे संसद के बजट सत्र में समान विचारधारा वाले दलों के साथ इस मुद्दे को जोरदार तरीके से उठाएगी.

  • Pradesh18
  • Last Updated :
    जेएनयू विवाद को लेकर कांग्रेस उपाध्‍यक्ष सोनिया गांधी सोमवार को आक्रामक दिखीं. सोनिया ने कहा कि मोदी सरकार पर पूरी तरह संतुलन खो देने और जेएनयू विवाद पर लोकतांत्रिक तरीकों को कमजोर करने का आरोप लगाते हुए साफ किया कि कांग्रेस मंगलवार से शुरू हो रहे संसद के बजट सत्र में समान विचारधारा वाले दलों के साथ इस मुद्दे को जोरदार तरीके से उठाएगी.

    सोनिया ने कांग्रेस कार्य समिति की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि लगता है कि सत्तारूढ़ तंत्र पूरी तरह संतुलन खो चुका है. वह सभी लोकतांत्रिक तरीकों को कमजोर करने पर आमदा लगता है. वह जांच की भावना, पूछताछ की भावना, बहस और असहमति की भावना को नष्ट करने पर अडिग लगता है.

    उन्होंने कहा कि पहले उन्होंने लोकसभा में हमारी आवाज दबाई. फिर सिविल सोसायटी कार्यकर्ताओं और संगठनों को चुप किया. अब विश्वविद्यालयों की बारी है.

    सीडब्ल्यूसी बैठक में पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी भाग लिया. बैठक के बाद बयान जारी कर आरोप लगाया गया कि संवैधानिक मूल्यों और लोकतांत्रिक नियमों पर सुनियोजित तरीके से हमले किए जा रहे हैं.

    बयान के अनुसार, ‘एक अग्रणी उच्च शिक्षण संस्थान में और ऐसे ही संस्थानों में जो हुआ और देश की राजधानी की एक अदालत में जो हिंसा और गुंडागर्दी हुई, उससे देश स्तब्ध है.’

    कांग्रेस की शीर्ष नीति निर्धारक इकाई ने कहा कि यह अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और मतभेदों की स्वतंत्रता पर सुनियोजित हमला है. सरकार की नाकामियों और प्रदर्शनकारी छात्रों से निपटने के उसके जुल्मों को ढंकने के लिए हेरफेर करके तैयार समाचार क्लिपों के माध्यम से देशभक्ति और राष्ट्रवाद पर पूरी तरह मनगढ़ंत बहस पैदा की जा रही है.’

    सीडब्ल्यूसी ने कहा कि कल जब संसद सत्र शुरू होगा तो कांग्रेस दूसरे समान विचार वाले दलों के सहयोग से इन मुद्दों को और अन्य मुद्दों को उठाएगी. इसमें कहा गया, ‘संसद का कर्तव्य चर्चा करना और कानून बनाना है.’

    माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने जेएनयू मामले में सरकार पर गलत तथ्य लगाने का आरोप लगाया. साथ ही जर्मनी में हिटलर के शासन से तुलना की और कहा कि उस समय गलत तथ्यों से राइसटाग बिल्डिंग को जलाया गया था, जिसकी परिणति दूसरे विश्वयुद्ध के रूप में हुई थी. येचुरी ने जेएनयू विवाद पर राष्ट्रवाद का मुद्दा उठाने को हिटलर की रणनीति जैसा करार दिया. वहीं, तृणमूल के नेता सुदीप बंदोपध्याय ने कहा कि सदन चलाने की जिम्मेदारी सत्ताधारी दल की है.

    वेंकैया नायडू बोले- सरकार हर मुद्दे पर चर्चा को तैयार

    संसदीय कार्यमंत्री वेंकैया नायडू ने साफ किया कि सरकार हर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार है. पहले प्रधानमंत्री अपनी तरफ से पहल कर चुके हैं. खुद वेंकैया ने कांग्रेस अध्यक्ष से मिलने जाने का उदाहरण भी दिया.

    उन्होंने कहा कि विपक्ष जिस मुद्दे पर चर्चा चाहता है, सरकार उसे कराएगी. उसे उम्मीद है कि सत्र में इस दफा कामकाज ठीक से होगा और जीएसटी जैसे बिल भी पास होंगे.

    गौरतलब है कि 25 फरवरी को रेल बजट, 26 फरवरी को आर्थिक सर्वे और 29 फरवरी को बजट आना है. मंगलवार को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के भाषण के साथ बजट सत्र शुरू होगा और 23 फरवरी से 16 मार्च तक बजट सत्र का पहला चरण रहेगा.

    बजट सत्र का दूसरा चरण 25 अप्रैल से 13 मई तक चलेगा. संसद में फंसे अहम बिलों में से जीएसटी बिल, व्हिसल ब्लोअर्स प्रोटेक्शन बिल (संशोधित) और इंडस्ट्रीज (डेवलपमेंट एंड रेगुलेशन) संशोधन बिल हैं.

    इसके अलावा कंज्यूमर प्रोटेक्शन बिल, इनसॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड, बेनामी ट्रांजैक्शंस (संशोधित) बिल, लैंड एक्विजिशन बिल और प्रिवेंशन ऑफ करप्शन (संशोधित) बिल जैसे बिल संसद में लटके हुए हैं.

    Tags: Congress, Jnu, Sonia Gandhi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर