होम /न्यूज /हरियाणा /

रेवाड़ी: सिंगर बनने की चाह में बाल गृह की दीवार कूदकर फिर भागा मंजीत, साथ में एक और बच्चा लापता

रेवाड़ी: सिंगर बनने की चाह में बाल गृह की दीवार कूदकर फिर भागा मंजीत, साथ में एक और बच्चा लापता

रेवाड़ी शहर के ट्रोमा सेंटर के नजदीक बने बाल रेखदेख संस्थान से दो बच्चे लापता हो गए.

रेवाड़ी शहर के ट्रोमा सेंटर के नजदीक बने बाल रेखदेख संस्थान से दो बच्चे लापता हो गए.

Child care institute in rewari: रेवाड़ी शहर के ट्रोमा सेंटर के नजदीक बने बाल रेखदेख संस्थान से दो बच्चे लापता हो गए. सुबह बच्चों की गिनती के दौरान उनके भागने की खबर लगी. बच्चे दीवार कूदकर बाल गृह से भागे हैं. इनमें से एक बच्चा मंजीत है जो सिंगर बनने की चाह में पहले भी भाग चुका है और इस बार एक और बच्चे को अपने साथ ले गया.

अधिक पढ़ें ...

रेवाड़ी. रेवाड़ी शहर के ट्रोमा सेंटर के नजदीक बने बाल रेखदेख संस्थान से दो बच्चे लापता हो गए. सुबह बच्चों की गिनती की गई तो बच्चों के लापता होने की जानकारी मिली, जिसके बाद विभाग में हडकंप मच गया. जांच की गई तो सामने आया कि दो बच्चे दीवार कूदकर बाल गृह से भाग निकले. यहां से भागे बच्चे का नाम मंजीत है जो सिंगर बनने की चाह में पहले भी भाग चुका है. और इस बार एक और बच्चे को अपने साथ ले गया.

जानकारी के मुताबिक, बाल गृह में अलग- अलग उम्र के 31 बच्चे रह रहे हैं. शुक्रवार रात को खाना खाने के बाद सभी रोजाना की तरह सोने चले गए. सुबह जब उठे तो बच्चों की गिनती की गई. गिनती में 29 बच्चे ही मिले और दो बच्चे लापता मिले. लापता बच्चों में से एक सालहावास और दूसरा पश्चिम बंगाल का रहने वाला है. बच्चों के लापता होने की सूचना तुरंत पुलिस को दी गई. जिसके बाद सीसीटीवी फुटेज भी चैक किये गए तो पता चला कि दीवार कूदकर 15 और 10 वर्ष के दो बचे भाग गए हैं. इस मामले में पुलिस और विभाग बच्चों की तलाश में लगा है.

आपको बता दें कि पहले भी आस्था कुंज से बच्चों के भागने के मामले सामने आ चुके हैं. तीन दिन पहले डीसी अशोक कुमार गर्ग ने भी आस्था कुंज पहुंचकर बच्चों से बातचीत की थी. उन्होंने कहा था कि उनकी कोशिश है कि बच्चों को यहां हर तरह की सुविधाएं मिलें, लेकिन आस्था कुंज से बच्चे भागने के मामले ने बाल रेखदेख करने वाली संस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं. आखिर क्या वजह रही कि बच्चे यहां से भाग निकले?

सिंगर बनने के लिए कई बार भाग चुका है मंजीत
वहीं, आस्था कुंज की इंचार्ज मुग्धा यादव ने बताया कि भागने वाला बच्चा मंजीत अभी चार दिन पहले ही आया था, जिसके हाथ पर कई कट लगे हुए थे और वह यहां आने से पहले भी कई बार अपने घर से मुम्बई तक भाग चुका था. वहीं, बहला फुसला कर दूसरे बच्चे सोहिल को भी साथ ले गया है.

Tags: Haryana news, Rewari News

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर