लाइव टीवी

बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने अपने ही नेता के खिलाफ बाजार में किया विरोध प्रदर्शन 

Pawan Kumar | News18 Haryana
Updated: September 26, 2019, 1:17 PM IST
बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने अपने ही नेता के खिलाफ बाजार में किया विरोध प्रदर्शन 
विरोध प्रदर्शन करते बीजेपी के कार्यकर्ता

बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने बावल बाजार में अपने ही नेता डॉ. बनवारी लाल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया. उनका कहना है कि यदि डॉ. बनवारी लाल को इस क्षेत्र से दोबारा टिकट मिला तो वे उनका साथ नहीं देंगे.

  • Share this:
रेवाड़ी. हरियाणा विधानसभा चुनाव में किस उम्मीदवार को कहां से टिकट देकर चुनाव मैदान में उतारा जाए, बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व इस पर मंथन कर रहा है. इसी बीच रेवाड़ी जिले के बावल विधानसभा क्षेत्र के बीजेपी कार्यकर्ताओं ने मंत्री डॉ. बनवारी लाल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और उन्हें दोबारा टिकट नहीं देने की अपील की है. कार्यकर्ताओं ने संगठन को चेतवानी दी है कि अगर डॉ. बनवारी लाल को फिर टिकट मिला तो वे लोग उनका साथ नहीं देंगे.

मंत्री डॉ. बनवारी लाल के खिलाफ बावल में सड़क पर उतरे कार्यकर्ता 

बावल बाजार में डॉ. बनवारी लाल के खिलाफ बीजेपी के पदाधिकारी और कार्यकर्ता इसलिए सड़क पर उतरे कि डॉ बनवारी लाल को बीजेपी फिर टिकट न दे . डॉ बनवारी लाल 2014 के विधानसभा चुनाव में केंद्रीय मंत्री इन्द्रजीत सिंह के आशीर्वाद से बीजेपी का टिकट पाए थे और जीत कर विधानसभा पहुंचे थे. बाद में मंत्री भी बन गए. डॉ बनवारी लाल तो कहते हैं कि उन्होंने बावल में रिकॉर्ड तोड़ विकास कराया है और सभी का सम्मान किया है. इसके उलट बीजेपी के मंडल पदाधिकारी और कार्यकर्ता डॉ बनवारी लाल से नाराज हैं. वे आरोप लगा रहे हैं कि डॉ. बनवारी लाल ने कार्यकर्ताओं की पूरी तरह से अनदेखी की. इसलिए वे दोबारा डॉ बनवारी लाल को विधानसभा नहीं भेजना चाहते. इसलिए पार्टी का शीर्ष नेतृत्व किसी को भी टिकट दे लेकिन बनवारी लाल को न दे.



कई चुनावी मुद्दे ऐसे हैं जिनसे हो सकता है बीजेपी को नुकसान 

बावल विधानसभा की सीट आरक्षित है. यहां से टिकट किसको मिलेगी इसका फैसला रामपुरा हाउस (राव इन्द्रजीत सिंह का पैतृक घर) करता रहा है. इस बार बीजेपी की लहर है . बीजेपी की टिकट पाने की चाहत रखने वालों की एक लम्बी- चौड़ी लिस्ट है लेकिन टिकट किसको मिलेगी ये कुछ समय बाद साफ़ होगा.  इतना जरूर है कि बावल विधानसभा में बीजेपी के विरोध के लिए मनेठी एम्स का निर्माण नहीं करना, दलित नाबालिग बेटी का सुराग न लगा पाना और किसानों की जमीन अधिग्रहण करने के बावजूद 9 माह बाद भी मुआवाजा न देना बड़ा चुनावी मुद्दा बनेगा और बीजेपी को नुकसान होगा. ऐसे में खुद बीजेपी कार्यकर्ता खुद अपने ही मंत्री के खिलाफ खड़े हो गए हैं तो इसका नुकसान भी बीजेपी को भुगतना पड़ सकता है.

ये भी पढ़ें- हरियाणा विधानसभा चुनाव: DSP पद से इस्तीफा देंगे योगेश्वर दत्त, BJP में होंगे शामिल
Loading...

गिफ्ट देने के बहाने लिफ्ट इंजीनियर ने नाबालिग लड़की से किया रेप, गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रेवाड़ी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 26, 2019, 12:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...