आईजीयू के 351 में से 350 छात्र फेल, गुस्साएं छात्रों ने किया विरोध प्रदर्शन

विद्यार्थियों का कहना है की ऐसा संभव नहीं है की बीएससी में टॉपर छात्र भी फेल हो जाएं. इसलिए उनकी मांग है की दोबारा पेपर्स की चेकिंग की जाए और अगर ऐसा नहीं किया जाता तो वो भूख हड़ताल करने से भी पीछे नहीं हटेंगे.

Pawan Kumar Kantiwal | News18 Haryana
Updated: May 18, 2018, 11:10 PM IST
आईजीयू के 351 में से 350 छात्र फेल, गुस्साएं छात्रों ने किया विरोध प्रदर्शन
आईजीयू के 350 के छात्र
Pawan Kumar Kantiwal | News18 Haryana
Updated: May 18, 2018, 11:10 PM IST
रेवाड़ी के इंदिरा गांधी विश्वविद्यालय में  एमएससी  फिजिक्स फस्ट ईयर के एक छात्र को छोड़कर सभी विद्यार्थियों के फेल हो जाने के बाद छात्र-छात्राओं ने विश्वविद्यालय में जमकर विरोध प्रदर्शन किया और विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की,

विद्यार्थियों का कहना है की ऐसा संभव नहीं है कि बीएससी में टॉपर छात्र भी फेल हो जाएं. इसलिए उनकी मांग है की दोबारा पेपर्स की चेकिंग की जाए और अगर ऐसा नहीं किया जाता तो वो भूख हड़ताल करने से भी पीछे नहीं हटेंगे.

बता दें कि मीरपुर गांव में स्थित इंदिरा गांधी विश्वविद्यालय में एमएससी फर्स्ट ईयर में पढ़ने वाले 62 छात्र-छात्राओं सहित विश्वविद्यालय से जुड़े हुए रेवाड़ी-महेंद्रगढ़ के कॉलेजों के 351 में से केवल एक छात्र पास हुआ गया है और बाकी सभी को फ़ेल हो गए हैं.

परीक्षा परिणामों से छात्र-छात्राओं ने रोष वक्त करते हुए वीसी ऑफिस के बाहर प्रदर्शन किया और दोबारा पेपर्स चेकिंग करने की मांग की. छात्राओं का कहना है की उनमें से ऐसे कई बच्चे हैं जो बीएससी में टॉपर रहे हैं लेकिन उन्हें एमएससी में फ़ेल कर दिया गया, जो हो नहीं सकता है. इसलिए उन्हें पेपर्स दिखाए, अगर वो पेपर चेकिंग सही हुए है तो वो मान लेंगे की फेल हुए हैं.

विश्विद्यालय की तरफ से ये कहा जा रहा है की पेपर्स दोबारा चेक करा दिए जाएंगे. लेकिन मीडिया से बात करने के लिए विश्वविद्यालय में वीसी, रजिस्ट्रार और डिपार्टमेंट के एचओडी मौजूद नहीं थे.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->