रेवाड़ी में दर्दनाक हादसा: करंट लगने से 2 चचेरे भाईयों की मौत, बिजली निगम पर लापरवाही का आरोप
Rewari News in Hindi

रेवाड़ी में दर्दनाक हादसा: करंट लगने से 2 चचेरे भाईयों की मौत, बिजली निगम पर लापरवाही का आरोप
करंट लगने से दो लोगों की मौत

ग्रामीणों (Villagers) ने कि अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग (Demand). मृतकों के परिवारों को 50-50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता मिले.

  • Share this:
रेवाड़ी. हरियाणा के रेवाड़ी (Rewari) जिले में गुरुवार को एक दर्दनाक हादसा हो गया. जिले के गांव राजगढ़ में खेत में काम करके वापस घर लौटे रहे दो चेचेरे भाईयों की करंट लगने से मौत हो गई. घटना के बाद ग्रामीणों ने बिजली निगम के अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप (Allegations) लगा रोष जाहिर किया  जानकारी के मुताबिक नरेश और अशोक नाम के दो ग्रामीण खेत में काम करके वापस घर लौट रहे थे. तभी रास्ते में बिजली के ट्रान्सफार्मर के पास खुली पड़ी तारों की चपेट में आ गए, जिनकी मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई.

वहीं एक युवक ने इस घटना की सूचना ग्रामीणों को दी. जिसके बाद मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने बिजली निगम के अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप लगा रोष जाहिर किया. साथ ही मृतकों के आश्रितों को आर्थिक सहायता दिए जाने की मांग की. वहीं सूचना के बाद मौके  पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों को उचित कार्रवाई का आश्वाशन देकर  शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

पुलिस को नहीं उठाने दिया शव



ग्रामीणों ने बताया कि गांव निवासी नरेश व अशोक गुरुवार की शाम को अपने खेत से घर लौट रहे थे. खेतों में एक बिजली ट्रांसफार्मर के निकट से गुजरते समय वे खुले पड़े तारों की चपेट में आ गए तथा करंट लगने से मौके पर ही उनकी मौत हो गई. बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर एकत्रित हो गए. सूचना के बाद रामपुरा थाना एसएचओ नीरज कुमार भी मौके पर पहुंचे, परंतु ग्रामीणों ने पुलिस को शव नहीं उठाने दिए.
ग्रामीणों का आरोप

ग्रामीणों का आरोप है कि घटना के बाद उन्होंने बिजली विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को सूचित किया, परंतु सभी ने मोबाइल स्विच ऑफ कर लिया. दो घंटे बाद तक भी बिजली निगम का कोई भी अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा. ग्रामीणों ने कहा कि दोनों ही युवक गरीब परिवार से थे तथा खेतीबाड़ी कर गुजर-बसर कर रहे थे. नरेश के परिवार में पत्नी, दो लड़की व एक लड़का तथा अशोक के परिवार में पत्नी व दो लड़के हैं. दोनों के परिवारों को आर्थिक मदद देने पर सहमति नहीं होने तक वह शवों को नहीं उठाने देंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading