VIDEO: सांड का बच्चे पर हमला, कभी सिर तो कभी पैर से रौंदा, भाई बचाने आया तो उसे भी जमीन पर पटका
Rewari News in Hindi

VIDEO: सांड का बच्चे पर हमला, कभी सिर तो कभी पैर से रौंदा, भाई बचाने आया तो उसे भी जमीन पर पटका
सांड ने किया बच्चों पर हमला

गनीमत रही कि इस घटना में बच्चे को ज्यादा चोट नहीं आई है. लेकिन पूरी घटना कितनी भयावह है इसका अंदाजा वहां लगे सीसीटीवी कैमरे (CCTV) में देखकर लगाया जा सकता है.

  • Share this:
रेवाड़ी. जिले में बेसहारा पशुओं का आतंक आए दिन आम लोगों पर भारी पड़ रहा है . शहर में लंबे समय से बेसहारा पशुओं का जमावड़ा सड़क पर रहता है जिसके कारण आए दिन सड़क हादसे (Road accident) होते हैं और जाम लगता हैं.  ऐसा ही एक मामला गुरुवार दोपहर को सामने आया जब एक बच्चा अपने बड़े भाई के साथ  जिला शिक्षा कार्यालय के पास से जा रहा था. तभी सामने खड़े एक सांड (Bull) ने बच्चे पर हमला बोल दिया.

बच्चे के बड़े भाई ने सांड को भगाने का प्रयास भी किया. लेकिन सांड ने उसे भी टक्कर मारकर गिरा दिया और बच्चे पर लगातार हमला करता रहा. जिसके बाद स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे और सांड के चंगुल से बच्चों को छुड़वाया. गनीमत रही कि इस घटना में बच्चे को ज्यादा चोट नहीं आई है. लेकिन पूरी घटना कितनी भयावह है इसका अंदाजा वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में देखकर लगाया जा सकता है.


सीसीटीवी कैमरे में देखा जा सकता है कि किस कदर सांड ने बच्चे पर हमला कर दिया. ये दो बच्चे गली से निकल रहे थे. शायद छोटे बच्चे ने पीली टी-शर्ट पहनी हुई थी इसे देखकर सांड भड़क गया. क्योंकि तस्वीरों में देखा जा सकता है कि सांड शांत खड़ा है और अचानक बच्चे को देखकर उस पर हमला कर देता है.
3 दिन पहले विधायक ने लिया था जायजा



बता दें कि लंबे समय से जिले के अंदर आवारा बेसहारा पशु घूमने की शिकायतें स्थानीय लोग शासन प्रशासन से करते रहे हैं. मौजूदा विधायक चिरंजीव राव ने भी 3 दिन पहले शहर का जायजा लेकर बेसहारा पशुओं को बाड़े में पहुंचाने की बात कहीं थी. बावजूद इसके अभी तक नगर परिषद के अधिकारी इस समस्या को दूर करने के लिये लापरवाह है.

कई बार पुशओं को बाड़े में पहुंचाने का काम शुरू किया गया

हालांकि कई बार बेसहारा पशुओं को बाड़े में पहुंचाने का टेंडर किया गया और बेसहारा पशुओं को बाड़े में पहुंचाने का काम शुरू भी किया गया. लेकिन शहर में इतनी बड़ी संख्या में बेसहारा आवारा पशु है कि वो आज भी सड़क और गाली मौहल्लों में मौजूद है जो आये दिन किसी ना किसी को अपना शिकार बनाते है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading