...और पुलिस ने फायर ब्रिगेड की मदद से बुझाई जलती चिता

जब तक पुलिस गांव पहुंची, तब तक चिता को मुखाग्नि दी जा चुकी थी. पुलिस ने शव को चिता से बाहर निकालने की बात कही तो ग्रामीणों ने इसका विरोध किया और पुलिस के साथ धक्कामुक्की भी की.

Rahul Mahajan | News18Hindi
Updated: September 18, 2018, 11:35 AM IST
...और पुलिस ने फायर ब्रिगेड की मदद से बुझाई जलती चिता
जलती चिता को बुझाता फायर ब्रिगेड कर्मचारी.
Rahul Mahajan | News18Hindi
Updated: September 18, 2018, 11:35 AM IST
हरियाणा में रोहतक जिले के बलम्भा गांव में 11वीं कक्षा की एक छात्रा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. परिजनों ने श्मशान घाट ले जाकर अंतिम संस्कार शुरू कर दिया तो अचानक गांव में पुलिस पहुंच गई और चिता को बुझाने की कोशिश की, लेकिन ग्रामीणों ने इसका विरोध किया. पुलिस ने तुरंत अतिरिक्त पुलिस फोर्स मंगाई और फायर ब्रिगेड की मदद से चिता को बुझाकर शव के अवशेष कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए रोहतक पीजीआई भिजवा दिए.

शनिवार रात महम के नजदीक बलम्भा गांव में एक नाबालिग लड़की की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई‌. परिजनों ने ग्रामीणों को मौत का कारण पेट दर्द बताया और अंतिम संस्कार की तैयारियां शुरू कर दीं. इसी दौरान मामले को संदिग्ध देखते हुए किसी ने पुलिस को भी सूचना दे दी. लेकिन जब तक पुलिस गांव पहुंची, तब तक चिता को मुखाग्नि दी जा चुकी थी. पुलिस ने शव को चिता से बाहर निकालने की बात कही तो ग्रामीणों ने इसका विरोध किया और पुलिस के साथ धक्कामुक्की भी की. ऐसे हालात को देखकर अतिरिक्त पुलिस फोर्स बुलाई गई और अधजले शव को बाहर निकाला गया.

इस घटना के बाद गांव में तनाव का माहौल बन गया और पुलिस व ग्रामीण आमने-सामने हो गए. काफी देर की मशक्कत के बाद पुलिस ने मृतका के घर जाकर परिजनों से पूछताछ की और घर का मुआयना किया. पुलिस ने फिलहाल किसी को हिरासत में नहीं लिया है. शव के अवशेषों को रोहतक पीजीआई में फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है. उसी की रिपोर्ट के मुताबिक आगामी कार्रवाई की जाएगी. फिलहाल ये ऑनर कि‍लिंग है या कोई अन्य कारण, इसकी जांच की जा रही है. लेकिन जिस तरह से ग्रामीणों ने पुलिस का विरोध किया, वह मामले को संदिग्ध बना रहा है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर