सगाई से खफा सिरफिरे आशिक ने घर में घुसकर युवती पर किया चाकुओं से हमला, हालत नाजुक

सिरफिरे आशिक से डरकर परिवार वालों ने कुछ समय पहले रोहतक के ही ओल्ड सब्जी मंडी पुलिस स्टेशन में एक दरखास्त भी दी थी. लेकिन उनका आरोप है कि पुलिस ने मामले की गंभीरता समझने की जहमत नहीं उठाई.

Dheerendra Chaudhary | News18 Haryana
Updated: June 5, 2019, 10:51 AM IST
सगाई से खफा सिरफिरे आशिक ने घर में घुसकर युवती पर किया चाकुओं से हमला, हालत नाजुक
पीजीआई में भर्ती पीड़िता
Dheerendra Chaudhary | News18 Haryana
Updated: June 5, 2019, 10:51 AM IST
हरियाणा सरकार बेटियों की सुरक्षा को लेकर भले ही लाख दावे ठोकते रहे, लेकिन हकीकत इन दावों से कोसों दूर है और हकीकत यह है कि बहन बेटियों को भय के साए में जीवन गुजारना पड़ रहा है. रोहतक में एक सिरफिरे आशिक ने शादी से इनकार करने पर न केवल लड़की को चाकुओं से चीर डाला, बल्कि अपनी बेटी को बचाने के लिए आगे आए पिता और चाचा को भी चाकू मारकर लहूलुहान कर डाला.

दरअसल रोहतक में रहने वाला पीड़िता का पिता घर पर बैठा चाय पी रहा था, तभी कलानौर का रहने वाला मोनू नामक युवक हाथों में चाकू लिए हुए दनदनाता आया और राजू से उसकी बेटी के बारे में पूछा. राजू ने जब उसे वहां से बाहर निकलने को कहा तो मोनू आग बबूला हो उठा और कहा कि अगर उसकी बेटी की शादी उससने नहीं हुई तो वे किसी से नहीं होने देगा.

कमरे में सो रही लड़की पर हमला

इतना कहते ही वह लड़की के कमरे की तरफ दौड़ पड़ा. अपने कमरे में सो रही पीड़िता पर चाकुओं से ताबड़तोड़ हमला कर दिया. बेटी को बचाने का प्रयास किया तो उसके पिता और चाचा पर भी हमला करके उन दोनों को भी लहूलुहान कर दिया और हथियार लहराते हुए यह कहकर मौके से भाग निकला.

गर्दन और छाती पर किए चाकुओं से वार

अचानक हुए इस घटनाक्रम से वहां हड़कंप की स्थिति पैदा हो गई और परिवारवालों को कुछ समझ नहीं आया कि क्या करें और क्या नहीं करें. आनन-फानन में उन्होंने लहूलुहान हुई अपनी बेटी को उठाया और उसे पीजीआई के ट्रामा सेंटर में लेकर आए जहां पर लड़की का इलाज चल रहा है. गर्दन छाती और चेहरे आदि पर चाकुओं के अनेक वार होने से पीड़िता का काफी सारा खून बह गया है और उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है.

पीड़िता के परिजनों को सता रहा डर
Loading...

हालांकि पीजीआई के डॉक्टर इलाज में जुटे हैं लेकिन परिवार वालों को डर सता रहा है कि उनकी बेटी की जान बचेगी भी या नहीं. पीड़िता के पिता ने बताया कि उसने अपनी बेटी का रिश्ता कुछ समय पहले ही नजदीक के एक गांव में तय किया था, लेकिन मोनू को यह हरगिज भी मंजूर नहीं था कि पीड़िता की शादी कहीं दूसरी जगह पर हो. उसने लड़की के परिवार को धमकाना शुरू कर दिया और यहां तक कहा कि अगर पीड़िता की शादी कहीं दूसरी जगह करने की कोशिश की तो हो उसे तेजाब डालकर जला डालेगा.

पुलिस को दी थी शिकायत

सिरफिरे आशिक से डरकर परिवार वालों ने कुछ समय पहले रोहतक के ही ओल्ड सब्जी मंडी पुलिस स्टेशन में एक दरखास्त भी दी थी. लेकिन उनका आरोप है कि पुलिस ने मामले की गंभीरता समझने की जहमत नहीं उठाई. यही कारण रहा कि आरोपी युवक का हौसला बढ़ता गया और उसने परिवार वालों पर दबाव बनाने के लिए कई तरह के हथकंडे भी अपनाएं.

युवक की दबंगई से परेशान थे परिजन

मोनू की हरकतों से तंग आकर पिता ने अपनी बेटी की पढ़ाई तक भी छुड़वा दी और उसे घर पर ही सिलाई कढ़ाई का काम सिखाने लगा. लेकिन मोनू की मनमानी यहां पर भी नहीं थमी और यदा-कदा घर आकर वह दबाव बनाता रहा कि वे लोग अपनी बेटी की शादी उससे करें परंतु काजल के परिवार को यह हरगिज़ भी मंजूर नहीं था. लड़की के चाचा का कहना है कि मोनू नशेड़ी व जुआरी किस्म का युवक है और वे उसके साथ अपनी बेटी की शादी करके उसको जानबूझकर नरक में नहीं धकेल सकते.

जांच में जुटी पुलिस

इस वारदात के बाद पुलिस एक बार तो हरकत में आई और पीड़ित परिवार के बयान दर्ज करने के लिए अस्पताल भी पहुंची. लेकिन जब इस सिलसिले में पुलिस से बात करने की कोशिश की गई तो कोई भी अधिकारी ऑन कैमरा बोलने तक को तैयार नहीं हुआ. ऑफ कैमरा बात करते हुए पुलिस का सिर्फ यही कहना था कि हम लोग इस मामले की छानबीन कर रहे हैं और आरोपी युवक की तलाश की जा रही है.

ये भी पढ़ें-

रोहतक में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, 4 गिरफ्तार

दुकान में शराब पीने से मना किया तो लाठी से पीट-पीट कर मार डाला

फरीदाबाद में चलती कार बनी 'आग का गोला', बाल-बाल बचा परिवार
First published: June 5, 2019, 10:44 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...