होम /न्यूज /हरियाणा /रोहतक: बैरिकेट्स तोड़कर आगे बढ़े किसान, अब दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर होगा पुलिस से आमना-सामना

रोहतक: बैरिकेट्स तोड़कर आगे बढ़े किसान, अब दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर होगा पुलिस से आमना-सामना

किसानों ने बैरिकेट्स तोड़कर पुलिस को पीछे धकेला

किसानों ने बैरिकेट्स तोड़कर पुलिस को पीछे धकेला

अब आंदोलनकारी किसानों (Farmers) का दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर पुलिस (Police) के साथ आमना-सामना होगा.

    रोहतक. हरियाणा के रोहतक जिले में भी दो जिलों की पुलिस किसानों (Farmers) को रोकने में नाकाम रही. रोड टोल प्लाजा बैरिकेट्स को तोड़कर किसान आंदोलनकारी आगे बढ़ चुकी है. अब आंदोलनकारी किसानों का दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर पुलिस (Police) के साथ आमना-सामना होगा. किसान अलग-अलग जत्थों में दिल्ली की तरफ कूच कर रहे हैं. नेशनल हाईवे 10 पर इस समय तनाव का माहौल है. किसान पहले ही चेतावनी दे चुके हैं कि वो हर हाल में दिल्ली पहुंचकर रहेंगे.

    सोनीपत-पानीपत बॉर्डर पर तनावपूर्ण माहौल

    वहीं सोनीपत-पानीपत बॉर्डर पर पुलिस और किसानों के बीच तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है. किसानों का एक जत्था पानीपत-सोनीपत हलदाना बॉर्डर पर पहुंच चुका है. किसानों ने बैरिकेटिंग हटानी शुरू कर दी है. मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल भी मौजूद है.

    रोहद टोल पर तोड़ा पुलिस का नाका

    वहीं झज्जर जिले के बहादुरगढ़ हलके में रोहद टोल पर भी किसान पुलिस का नाका तोड़ते हुए आगे बढ़ चुके हैं. भारी संख्या में किसान ट्रैक्टर ट्रॉलियों में दिल्ली की तरफ बढ़ रहे हैं. अब टिकरी बॉर्डर पर किसानों का दिल्ली पुलिस से आमना सामना होगा.

    " isDesktop="true" id="3354286" >

    डेढ़ माह से चल रहा किसानों का आंदोलन

    बता दें कि कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब में पिछले डेढ़ माह से किसानों का आंदोलन चल रहा था. अब किसान दिल्ली को इस आंदोलन का केंद्र बनाना चाह रहे हैं. तभी किसानों ने दिल्ली चलो आंदोलन का आह्वान किया. पंजाब के विभिन्न हिस्सों से निकले किसानों के काफिले में रसद और ठंड से बचने की पूरी व्यवस्था है. किसानों का कहना है कि जब तक ये कृषि कानून वापस नहीं होंगे, तब तक वे दिल्ली में डटे रहेंगे.

    Tags: Farmer Agitation, Farmers, Haryana police

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें