लाइव टीवी

जाट आरक्षण आंदोलन मामला: देशद्रोह के आरोपी प्रो. वीरेन्द्र ने की आरोपमुक्त करने की मांग

News18 Haryana
Updated: December 5, 2019, 2:03 PM IST
जाट आरक्षण आंदोलन मामला: देशद्रोह के आरोपी प्रो. वीरेन्द्र ने की आरोपमुक्त करने की मांग
प्रोफेसर वीरेंद्र को देशद्रोह के आरोप से मुक्त करने की मांग

प्रोफेसर वीरेन्द्र (Professor Virender) को गिरफ्तार (Arrest) भी किया गया था, लेकिन बाद में उन्हें जमानत (Bail) मिल गई थी. इस केस में पुलिस प्रोफेसर वीरेन्द्र के खिलाफ आंदोलन को भडकाने के आरोप में 500 से ज्यादा पेज की चार्जशीट दाखिल कर चुकी है, जिस पर अब गवाही शुरू होनी थी.

  • Share this:
रोहतक. जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान भड़काऊ आडियो क्लिप (Audio Clip) मामले में पूर्व सीएम भूपेन्द्र सिंह हुड्डा (Bhupinder Singh hooda) के राजनैतिक सलाहकार रहे प्रोफेसर वीरेन्द्र (Professor Virender) की तरफ से उन्हें आरोपमुक्त करने की मांग की गई है. प्रोफेसर वीरेन्द्र के खिलाफ चार्जशीट पर गवाही से पहले उनके वकील ने कोर्ट में याचिका दाखिल कर ये मांग की है कि जिस ऑडियो क्लिप के आधार पर उनके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है, वह केस ही नहीं बनता. प्रोफेसर वीरेन्द्र की इस याचिका पर रोहतक जिला सैशन कोर्ट कल इस मामले पर सुनवाई करेगी.

बता दें कि जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान प्रोफेसर वीरेन्द्र और कप्तान मानसिंह के बीच बातचीत की इस ऑडियो वायरल हुई थी, जिसमें प्रोफेसर वीरेन्द्र ये कहते सुनाई दिए थे कि हिसार-सिरसा साइड तो कीडी (चींटी) भी नहीं रोकी गई है. इस ऑडियो के आधार पर उनके खिलाफ रोहतक के सिविल लाइन थाने में देशद्रोह, षडयंत्र और डकैती जैसी संगीन धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था.

आंदोलन भड़काने का आरोप

प्रोफेसर वीरेन्द्र को गिरफ्तार भी किया गया था, लेकिन बाद में उन्हें जमानत मिल गई थी. इस केस में पुलिस प्रोफेसर वीरेन्द्र के खिलाफ आंदोलन को भडकाने के आरोप में 500 से ज्यादा पेज की चार्जशीट दाखिल कर चुकी है, जिस पर अब गवाही शुरू होनी थी.

प्रोफेसर वीरेंद्र के वकील ने कही ये बात

प्रोफेसर वीरेन्द्र के वकील जेके गक्खड ने बताया कि उन्होंने कोर्ट में याचिका दाखिल की है कि प्रोफेसर वीरेन्द्र और कप्तान मानसिंह के बीच सामान्य बातचीत हुई थी और उस बातचीत से किसी तरह का आंदोलन नहीं भडका और न ही इस बातचीत के बाद कैप्टन मानसिंह ने किसी को कोई निर्देश दिए. इसलिए यह केस ही गलत है और देशद्रोह और षडयंत्र जैसी धाराएं लगाना राजनीति से प्रेरित नजर आ रहा है. हमने कोर्ट से उन्हें आरोपमुक्त करने की मांग की है और कल यानि 6 दिसम्बर को कोर्ट इस मामले की सुनवाई करेगा.

ये भी पढ़ें-मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत OP चौटाला पर बड़ी कार्रवाई, ED ने तेजाखेड़ा फार्म की संपत्ति को किया अटैच

पिता ही बन गया हैवान, 9 साल की मासूम का किया रेप, इलाज के दौरान हुई मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रोहतक से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 5, 2019, 2:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर