BJP के पूर्व विधायक नरेश मलिक का निधन, राजनेता की बजाए दानवीर के नाम से थी पहचान
Rohtak News in Hindi

BJP के पूर्व विधायक नरेश मलिक का निधन, राजनेता की बजाए दानवीर के नाम से थी पहचान
पूर्व विधायक का निधन

नरेश मलिक ऐसे नेता थे जिन्होंने इनेलो के गढ़ में सबसे पहले कमल खिलाया था. विधायक बनने से पहले वो गांधरा गांव के सरपंच भी रहे थे और पंचायत समिति सांपला के चेयरमैन भी रहे थे.

  • Share this:
भाजपा के पूर्व विधायक नरेश मलिक का बुधवार को निधन हो गया. नरेश मलिक काफी दिनों से बीमार चल रहे थे. मंगलवार देर रात उन्होंने अंतिम सांस ली. बुधवार को रोहतक में उनका अंतिम संस्कार किया गया. नरेश मलिक रोहतक के हसनगढ़ हलके से 2005 में विधायक बने थे. उस समय प्रदेश में भाजपा के सिर्फ दो विधायक थे. नरेश मलिक की राजनेता की बजाए दानवीर के नाम से बड़ी पहचान थी.

नरेश मलिक ऐसे नेता थे जिन्होंने इनेलो के गढ़ में सबसे पहले कमल खिलाया था. विधायक बनने से पहले वो गांधरा गांव के सरपंच भी रहे थे और पंचायत समिति सांपला के चेयरमैन भी रहे थे. इन्होंने सन 2005 के चुनाव में इंडियन नेशनल लोकदल के चक्रवर्ती शर्मा को लगभग 10 हजार वोटों से हराया था.

आरक्षण को लेकर फिर इकट्ठा हुए जाट, बोले- सरकार ने नहीं मानी मांगें तो होगा आंदोलन



पूर्व विधायक के निधन पर सहकारिता राज्यमंत्री मनीष ग्रोवर ने श्रद्धांजलि दी. वहीं रोहतक से सांसद दीपेंद्र हुड्डा भी अंतिम संस्कार में पहुंचे. बता दें कि नरेश मलिक को इलाके में बड़े समाजसेवी और दानी रूप में जाना जाता था.
 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज