Home /News /haryana /

पूर्व सांसद बोले- नमाज पढ़ना मेरा अधिकार, सभी 37 चिन्हित जगहों पर इबादत करने की इजाजत दे सरकार

पूर्व सांसद बोले- नमाज पढ़ना मेरा अधिकार, सभी 37 चिन्हित जगहों पर इबादत करने की इजाजत दे सरकार

मोहम्मद अदीब ने कहा कि बीते 25 से 30 सालों में कितने मंदिरों और अन्य धार्मिक स्थलों के लिए ज़मीन दी गई. हमें बीते 25 से 30 सालो में एक इंच जमीन भी मस्जिदों के लिए नहीं दी गयी. (सांकेतिक फोटो)

मोहम्मद अदीब ने कहा कि बीते 25 से 30 सालों में कितने मंदिरों और अन्य धार्मिक स्थलों के लिए ज़मीन दी गई. हमें बीते 25 से 30 सालो में एक इंच जमीन भी मस्जिदों के लिए नहीं दी गयी. (सांकेतिक फोटो)

Haryana News: खुले में नमाज पढ़ने को लेकर पूर्व राज्यसभा सांसद मोहम्मद अदीब का भी बयान सामने आया है. उन्होंने कहा है कि सीएम खट्टर द्वारा 37 जगहों की अनुमति को कैंसिल करना तर्क संगत नहीं है. उन्होंने कहा कि डीसीपी से मुस्लिम समाज के लोगों ने मुलाकात की है. हमे इबादत से रोकना जायज़ नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

गुरुग्राम. गुरुग्राम (Gurugram) में खुले में नमाज पढ़ने को लेकर जारी विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. इस मामले को लेकर नेताओं का आए दिन कोई न कोई बयान आ ही जाता है. अब हरियाणा के पूर्व सहकारिता राज्य मंत्री मनीष ग्रोवर (Manish Grover) का बयान सामने आया है. उन्होंने कहा है कि खुले में नमाज पढ़ने से आने- जाने वालों को दिक्कत होती है. ऐसे में मुस्लिम समाज के लोगों को अपने निर्धारित बंद स्थान पर नमाज (Namaz) पढ़ना चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि अब पाठ्यक्रम में भगवत गीता शामिल की जाएगी. पूर्व सहकारिता राज्य मंत्री ने कहा कि धर्म व जातियों में समाज न बंटे, इसलिए गीता का प्रचार प्रसार किया जा रहा है. अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव में शिरकत करने पहुंचे थे पूर्व सहकारिता राज्य मंत्री मनीष ग्रोवर ने ये बातें कहीं.

वहीं, खुले में नमाज पढ़ने को लेकर पूर्व राज्यसभा सांसद मोहम्मद अदीब का भी बयान सामने आया है. उन्होंने कहा है कि सीएम खट्टर द्वारा 37 जगहों की अनुमति को कैंसिल करना तर्क संगत नहीं है. उन्होंने कहा कि डीसीपी से मुस्लिम समाज के लोगों ने मुलाकात की है. हमें इबादत से रोकना जायज़ नहीं है. उन्होंने कहा कि नमाज़ मामले को मुस्लिम काउंसिल गुरुग्राम कोर्ट में लेकर जाएगी. यही वजह है कि
हमने जिला प्रशासन को भी ज्ञापन सौंपा है.

माहौल खराब करने की साजिशें कर रहे थे
मोहम्मद अदीब ने कहा कि बीते 25 से 30 सालों में कितने मंदिरों और अन्य धार्मिक स्थलों के लिए ज़मीन दी गई. हमें बीते 25 से 30 सालो में एक इंच जमीन भी मस्जिदों के लिए नहीं दी गयी. जब तक हमें नई जगहें अलॉट नहीं की जाती तक तक हमें सभी 37 चिन्हित जगहों पर नमाज़ पढ़ने की इजाज़त दी जाए. मोहम्मद अदीब ने आरोप लगाते हुए कहा कि हमारी शिकायतों पर जिला प्रशासन संज्ञान नहीं ले रहा है. उनकी मानें तो भड़काऊ भाषणों की सीडी के साथ हमने गुरुग्राम पुलिस से शिकायत की थी. उन्होंने कहा कि कैसे खुले में नमाज़ मामले पर असमाजिक तत्व माहौल खराब करने की साजिशें कर रहे थे.

Tags: Haryana news, Namaz, Namaz in Masjid, Rohtak News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर