रोहतक: गुरमीत राम रहीम ने पीजीआई में कोविड टेस्ट से किया था इंकार

राम रहीम को दो बार लाया गया था पीजीआई (मुंहबोली बेटी हनीप्रीत के साथ राम रहीम)

राम रहीम को दो बार लाया गया था पीजीआई (मुंहबोली बेटी हनीप्रीत के साथ राम रहीम)

Ram Rahim COVID Test: गुरमीत राम रहीम रोहतक पीजीआई में दो बार आया था. राम रहीम को भी कोरोना टेस्ट कराने के लिए बोला गया था, लेकिन उसने पीजीआई में टेस्ट कराने से इंकार कर दिया था

  • Share this:

रोहतक. हत्या और बलात्कार के मामले में सजा काट रहे डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम (Gurmeet Ram Rahim) के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद रोहतक पीजीआई (Rohtak PGI) में हड़कंप मचा हुआ है. दो दिन पहले ही रोहतक पीजीआई मेडीकल में राम रहीम अपनी जांच कराने के लिए पहुंचे थे और इस दौरान संस्थान के कई सीनियर डॉक्टर्स उनके संपर्क में आए थे. संस्थान में यह चर्चा का विषय बना हुआ है कि जो सीनियर डॉक्टर्स राम रहीम के संपर्क में आए थे, उनको क्वारेंटीन किया जाएगा या नहीं. क्योंकि ये डॉक्टर्स हर रोज सैकड़ों मरीजों के संपर्क में भी आते हैं.

इसके अलावा सवाल यह भी उठ रहा है कि पीजीआई ने राम रहीम का कोरोना टेस्ट क्यों नहीं किया. सुनारिया जेल में सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम रविवार को अचानक से गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में पहुंचे और वहां पर उनकी कोविड जांच हुई, जिसमें वह पॉजिटिव मिले. इससे पहले दो बार रोहतक पीजीआई में भी राम रहीम अपनी जांच के लिए पहुंचे थे, लेकिन पीजीआई में उनका कोविड टेस्ट नहीं हुआ.

सवाल उठ रहे हैं कि रोहतक पीजीआई ने उनका कोविड टेस्ट क्यों नहीं किया और इतनी बड़ी लापरवाही कैसे की जा सकती है. पीजीआई रोहतक की मेडिकल सुप्रिडेंट डॉ पुष्पा दहिया ने कहा कि गुरमीत राम रहीम रोहतक पीजीआई में दो बार आया था, और हम जांच से पहले हर मरीज का कोविड टेस्ट कराते हैं. राम रहीम को भी कोरोना टेस्ट कराने के लिए बोला था, लेकिन उन्होंने पीजीआई में टेस्ट कराने से इंकार कर दिया था. इसमें हम किसी मरीज के साथ जबरदस्ती नहीं कर सकते.

जब उनसे पूछा गया कि जो सीनियर डॉक्टर्स राम रहीम के संपर्क में आए थे, क्या उन्हें क्वारेंटाइन किया जाएगा, क्योंकि अब बाकी मरीजों को भी खतरा हो सकता है. इस पर चिकित्सा अधीक्षक ने कहा कि अभी तक इस तरह का कोई फैसला नहीं लिया गया है. कोरोना गाइडलाइंस के मुताबिक किसी पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आने वाले व्यक्ति को क्वारंटाइन होना पड़ता है, ताकि संभावित संक्रमण से बचा जा सके. जिस दिन 3 जून को राम रहीम रोहतक पीजीआई पहुंचे थे, उस दौरान रोहतक पीजीआई के तमाम प्रशासनिक अधिकारी उनकी आवभगत करते नजर आए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज