हरियाणा में कल 4 हजार रोडवेज बसों का चक्का जाम

हड़ताल में प्रदेश के सभी रोडवेज यूनियन से जुड़े कर्मचारी भाग लेंगे. सभी कर्मचारी 7 अगस्त की सुबह चार बजे से ही सामान्य बस अड्डों पर पहुंचकर चक्का जाम में शामिल होंगे.

Dheerendra Chaudhary | News18 Haryana
Updated: August 6, 2018, 3:31 PM IST
हरियाणा में कल 4 हजार रोडवेज बसों का चक्का जाम
हरियाणा रोडवेज़
Dheerendra Chaudhary | News18 Haryana
Updated: August 6, 2018, 3:31 PM IST
हरियाणा में रोडवेज कर्मचारी 7 अगस्त को हड़ताल पर रहेंगे. इस दौरान प्रदेश में 4 हजार रोडवेज बसों का चक्का जाम रहेगा. इस हड़ताल के जरिए मोटर व्हीकल संशोधन बिल 2017 को रद्द करने की मांग की गई है. साथ ही हरियाणा में 700 बसों को किराए पर लेकर चलाने के फैसले का भी विरोध किया गया है. हरियाणा रोडवेज कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले यह हड़ताल की जा रही है.

इस हड़ताल में प्रदेश के सभी रोडवेज यूनियन से जुड़े कर्मचारी भाग लेंगे. सभी कर्मचारी 7 अगस्त की सुबह चार बजे से ही सामान्य बस अड्डों पर पहुंचकर चक्का जाम में शामिल होंगे. रोडवेज कर्मचारी यूनियन हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष एवं संयुक्त संघर्ष समिति के नेता वीरेंद्र सिंह धनखड़ ने कहा कि केंद्र सरकार नए मोटर व्हीकल एक्ट को लागू कर सार्वजनिक परिवहन क्षेत्र का पूर्ण निजीकरण करना चाहती है.

घर में घुसकर 4 युवकों ने महिला से किया गैंगरेप, फिर फंदे पर लटकाया

इस एक्ट के लागू होने से आम जनता से किफायती व सुरक्षित सरकारी परिवहन सेवाएं छिन जाएंगी. वहीं हरियाणा सरकार ने भी 700 बसों को ठेके पर लेने का फैसला किया है, जबकि पूरे प्रदेश में निजी नहीं बल्कि सरकारी बसों की मांग की जा रही है.

हिसार में दिनदहाड़े जीजा-साले की गोली मारकर हत्या, आरोपी फरार

धनखड़ ने कहा कि किसी भी ग्राम पंचायत की यह मांग नहीं आई है कि गांवों तक निजी बस चलाई जाएं. लेकिन सरकार अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए विभाग को तालाबंदी की ओर लेकर जा रही है. रोडवेज कर्मचारी नेता ने कहा कि 17 जुलाई को परिवहन मंत्री कृष्ण पंवार के साथ मुलाकात के दौरान भी विस्तृत बातचीत हुई थी. इसके बावजूद सरकार निजीकरण पर अड़ी हुई है, जिसे किसी कीमत पर लागू नहीं होने दिया जाएगा.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...