पुलवामा हमले का पाकिस्तान को मुंह तोड़ जवाब दे केंद्र सरकार : केजरीवाल

आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष नवीन जयहिंद ने कहा कि सैनिकों के दर्द को एमपी व एमएलए क्या जाने, अगर इन्हें इस दर्द का अहसास दिलाना है तो एमपी व एमएलए को एक साल बॉर्डर पर भेजें और डीसी व एसपी को एक माह के लिए बॉर्डर पर सैनिकों की बेरिक में छोड़ा जाए तो इन्हें पता चलेगा.

Sunil Jindal | News18 Haryana
Updated: February 17, 2019, 11:59 PM IST
पुलवामा हमले का पाकिस्तान को मुंह तोड़ जवाब दे केंद्र सरकार : केजरीवाल
गोहाना की सभा में दिल्ली के मुख्यमंत्री एवं आम आदमी पार्टी सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल
Sunil Jindal
Sunil Jindal | News18 Haryana
Updated: February 17, 2019, 11:59 PM IST
दिल्ली के मुख्यमंत्री एवं आम आदमी पार्टी सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार पुलवामा हमले का पाकिस्तान को मुंह तोड़ जवाब दे. आज पूरा देश सरकार व सेना के साथ खड़ा है. अगर आज पाकिस्तान के विरुद्ध कार्रवाई नहीं की गई तो यह शहीद परिवारों के साथ धोखा है. अरविंद केजरीवाल आम आदमी पार्टी द्वारा गोहाना में पुलवामा शहीदों की याद में आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि पुलवामा हमला देश की आत्मा पर हमला है. आज पूरा देश चाहता है कि पाकिस्तान को सबक सिखाया जाए ताकि अगली बार वह ऐसी हिम्मत न करे. पाकिस्तान को लगना चाहिए कि अगर वह हमारे 40 जवान शहीद करेगा तो उसके 400 जवान मारे जाएंगे.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि शहीद इसलिए हमारे लिए जान कुर्बान करते है कि अच्छे अस्पताल मिलें, हर किसान को फसल के अच्छे दाम मिलें, खराब फसलों का मुआवजा मिलें. सड़क, बिजली, पानी की अच्छी सुविधा हर शहीद का सपना है. लेकिन देश को आजाद कराने के लिए 70 साल पहले शहीद हुए भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद व अन्य सोचते थे, वैसा नहीं हुआ.पुलवामा हमले से पूरे देश में रोष है. इस समय सारा देश पाकिस्तान को सबक सिखाने के मूड में है. पाकिस्तान को ऐसा सबक सिखाया जाना चाहिए कि अगली बार ऐसा करने से पहले वह हजार बार सोचे. सभी जवानों को याद कर दो मिनट का मौन रख उनकी आत्मा की शांति को श्रद्धांजलि दी गई.

आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष नवीन जयहिंद ने कहा कि सैनिकों के दर्द को एमपी व एमएलए क्या जाने, अगर इन्हें इस दर्द का अहसास दिलाना है तो एमपी व एमएलए को एक साल बॉर्डर पर भेजें और डीसी व एसपी को एक माह के लिए बॉर्डर पर सैनिकों की बेरिक में छोड़ा जाए तो इन्हें पता चलेगा. प्यार-प्यार बहुत हुआ, अब आर-पार होनी चाहिए. रोज-रोज मरने से अच्छा है एक दिन ही मर जाए. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के लिए पूरे देश की जरुरत नहीं है, बल्कि अकेला हरियाणा ही काफी है. प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के हाथों शहीदों के सम्मान के लिए एक करोड़ रुपये दिए जाते हैं, केंद्र सरकार को 5-5 करोड़ रुपये शहीदों को देने चाहिए.




यह भी पढ़ें - पुलवामा हमला: राहुल गांधी से की नवजोत सिंह सिद्धू को कांग्रेस से बाहर निकालने की मांग

यह भी देखें - PHOTOS: पुलवामा अटैक के बाद इस ऑटो ड्राइवर ने किया कुछ ऐसा, हो रही देशभर में चर्चा
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...