Kisan Aandolan: 6 फरवरी के चक्का जाम को लेकर किसानों ने शुरू की तैयारियां

किसान इस बार आर-पार की लड़ाई लड़ने के मूड में

किसान इस बार आर-पार की लड़ाई लड़ने के मूड में

Kisan Aandolan: किसानों ने कहा कि वो इस बार आर-पार की लड़ाई के मूड में हैं. सरकार को जिद छोड़ कर किसानों की मांगों पर विचार करना चाहिए.

  • Share this:

रोहतक. किसानों के भारत बंद के ऐलान का असर रोहतक (Rohtak) में भी दिखाई पड़ने लगा है. मकडोली टोल प्लाजा (Makdoli Toll Plaza) पर चल रहे किसानों के धरने पर फैसला लिया गया कि 6 फरवरी को किसान संगठनों के आह्वान पर यहां पर भी चक्का जाम किया जाएगा और इसको लेकर तैयारियां भी शुरू कर दी गई हैं.

किसानों का कहना है कि सरकार तीन कृषि कानूनों को लेकर बेशक जिद पर अड़ी हुई है, पर किसानों ने भी ठान लिया है कि जब तक यह काले कानून वापस नहीं होते तब तक संघर्ष जारी रहेगा. फिलहाल देशभर में 6 फरवरी को सांकेतिक चक्का जाम करने का फैसला लिया गया है. अगर इसमें कोई बदलाव होता है तो संयुक्त संघर्ष समिति के आदेश पर ही तब्दीली की जाएगी.

Youtube Video

आसपास के गांव से राशन भी इकट्ठा किया जा रहा
किसान नेता राजू मकडौली ने बताया कि उनका धरना पिछले 2 महीने से लगातार जारी हैं. कुछ लोग यहां धरने पर बैठते हैं, बाकी को दिल्ली बॉर्डर पर भेजा जाता है. इसके अलावा आसपास के गांव से राशन भी इकट्ठा किया जाता है, जिसमें से कुछ इस धरने पर रखा जाता है, बाकी को दिल्ली भेज दिया जाता है.

किसान इस बार आर-पार की लड़ाई के मूड में

फिलहाल 6 फरवरी के लिए संयुक्त किसान संघर्ष समिति की तरफ से जो निर्देश दिए गए हैं उनको यहां पर ज्यों का त्यों लागू किया जाएगा. हम सड़क के किनारे ही बैठे हैं. 6 फरवरी को कोई भी वाहन नहीं चलेगा, सिवाय ट्रैक्टर को छोड़कर. किसान इस बार आर-पार की लड़ाई के मूड में हैं. सरकार को जिद छोड़ कर किसानों की मांगों पर विचार करना चाहिए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज