Kisan Aandolan: किसानों के समर्थन में महिलाओं ने शुरू किया 'PINK' धरना

किसानों के समर्थन में महिलाओं का धरना (सांकेतिक तस्वीर)

किसानों के समर्थन में महिलाओं का धरना (सांकेतिक तस्वीर)

Kisan Aandolan: किसानों के समर्थन में महिलाएं किसान आंदोलन में शामिल होना चाहती हैं, लेकिन धरना स्थलों पर जाना उनके लिए संभव नहीं है.

  • Share this:

रोहतक. पिछले 6 महीने से चल रहे किसान आंदोलन (Kisan Aandolan) के समर्थन में अब रोहतक की महिलाओं ने भी मोर्चा संभाल लिया है. रोहतक (Rohtak) के आईएमटी चौक पर इन महिलाओं ने एक स्थायी धरना शुरू कर दिया है और उसका नाम रखा गया है पिंक धरना. इनका कहना है कि जो महिलाएं किसान आंदोलन के समर्थन में ज्यादा दूर नहीं जा सकती, उनके लिए यह मंच बनाया गया है और फिलहाल शुरुआत रोहतक से हुई है, धीरे-धीरे पूरे प्रदेश में इस तरह के धरने शुरू किए जाएंगे.

छब्बीस मई को किसानों ने काला दिवस मनाया और जगह-जगह सरकार के पुतले फूंके गए. रोहतक में भी कई जगह विरोध प्रदर्शन किया गया और किसानों के अलावा कई सामाजिक संगठनों ने काले झंडों के साथ अपना रोष प्रकट किया. आईएमटी चौक पर एक नए धरने की शुरुआत भी की गई, जिसमें विशेष बात यह रही कि इस धरने का संचालन महिलाएं करेंगी और नियमित तौर पर यह धरना चलता रहेगा.

धरने की संयोजक गीता अहलावत और अजय बल्हारा ने बताया कि जो महिलाएं किसान आंदोलन में शामिल होना चाहती हैं, लेकिन धरना स्थलों पर जाना उनके लिए संभव नहीं है. इसीलिए इस धरने की शुरुआत की गई है. कामकाजी महिलाएं इन धरनों का संचालन करेंगी और पूरी बागडोर उन्हीं के हाथ में रहेगी.

पूरे प्रदेश में धरने होंगे
किसानों के समर्थन में महिलाएं यहां खुलकर अपनी बात रख सकती हैं. बड़े धरनों पर महिलाओं को अपनी बात रखने में हिचकिचाहट महसूस होती थी, लेकिन अब उन्हें उनका मंच मिल गया है. अभी रोहतक से इसकी शुरुआत हुई है. आने वाले दिनों में पूरे प्रदेश में इस तरह के धरने शुरू किए जाएंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज