रोहतक: फांसी लगाकर NRI ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा- 'Lockdown is not good'
Rohtak News in Hindi

रोहतक: फांसी लगाकर NRI ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा- 'Lockdown is not good'
झारखंड के सिमडेगा में आदिवासी ने की खुदकुशी.

मरने से पहले 42 वर्षीय मनोज एक सुसाइड नोट (Suicide Note) भी छोड़ गया, जिसमें उसने लिखा था कि लॉकडाउन (Lockdown) इज़ नोट गुड.

  • Share this:
रोहतक. हरियाणा के रोहतक (Rohtak) में एक एनआरआई द्वारा आत्महत्या करने का मामला सामने आया है. एनआऱआई ने अपने ही फ्लैट में फांसी लगाकर जीवन लीला समाप्त कर ली. मृतक लॉकडाउन (Lockdown) से परेशान था जिसके चलते उसने ये कदम उठाया. मरने से पहले 42 वर्षीय मनोज एक सुसाइड नोट भी छोड़ गया, जिसमें उसने लिखा था कि लॉकडाउन इज़ नोट गुड. बता दें कि मृतक करीब दो माह पहले बहरीन देश से लौटा था और फिलहाल घर पर ही था. वहीं मामले की सूचना पुलिस को दी गई. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवा दिया.

42 वर्षीय मनोज अपने परिवार के साथ बहरीन में नौकरी करता था. लॉकडाउन होने पर वह करीब दो माह पहले बहरीन से लौटा था. ओमैक्स सिटी में वह अपनी पत्नी, मां, और दो बच्चों के साथ रह रहा था. मनोज का शव उसके कमरे के फंदे पर लटका हुआ था. परिजनों को मामले का जबतक पता चला, तब तक उसकी मौत हो चुकी थी.

नौकरी ना होन से था परेशान



मृतक के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है जिसे पुलिस ने कब्जे में ले लिया है. पूछताछ में परिजनों ने पुलिस को बताया कि लॉकडाउन की वजह से वह बहरीन देश से यहां पर आए थे. फिलहाल में उसके पास कोई नौकरी भी नहीं थी. इस कारण वो काफी परेशान रहता था. इसी के चलते यह कदम उठा लिया.
पुलिस ने कही ये बात

पुलिस ने बताया कि मृतक का परिवार करीब दो माह पहले यहां पर आया था. ओमेक्स सिटी में उनका अपना मकान है. मृतक के पास से एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें लॉकडाउन को लेकर कुछ बातें लिखी हुई हैं. वह मानसिक रूप से परेशान था, जिसके चलते उसने ये कदम उठाया है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है.

ये भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर के डोडा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में हरियाणा का जवान शहीद

सैलरी मांगी तो डॉक्टर को नौकरी से निकाला, अब पत्‍नी संग ठेले पर बेच रहे चाय
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading