Assembly Banner 2021

Kisan Aandolan: 6 मार्च को घरों पर काले झंडे फहराएंगे किसान, हाथों पर काली पट्टी बांधकर जताएंगे विरोध

किसानों का कहना है कि जब तक कृषि कानून वापस नहीं होंगे तब तक आंदोलन जारी रहेगा.

किसानों का कहना है कि जब तक कृषि कानून वापस नहीं होंगे तब तक आंदोलन जारी रहेगा.

Kisan Aandolan: किसानों ने सरकार को चेतावनी देते हुए 6 मार्च को केएमपी हाईवे जाम करने का ऐलान किया है. कृषि कानून खत्म होने तक आंदोलन जारी रखने की भी घोषणा.

  • Share this:
रोहतक. तीन कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन को 100 दिन पूरे होने को हैं. दिल्ली बॉर्डर के अलावा रोहतक (Rohtak) में भी पानीपत हाइवे पर बने मकड़ौली टोल प्लाजा (Toll Plaza) के पास भी किसानों का धरना लगातार जारी है. और अब 6 मार्च को किसान अपने अपने घरों पर काले झंडे लगाकर और हाथों पर काली पट्टी बांधकर विरोध दर्ज कराएंगे.

मकड़ौली टोल प्लाजा के पास धरने पर बैठे किसानों की भीड़ भले ही पहले से कुछ कम दिख रही है. लेकिन किसानों का कहना है की कुछ लोग दिल्ली बॉर्डर पर आंदोलन में सहयोग देने के लिए निरंतर जा रहे हैं. साथ ही कुछ किसान फिलहाल अपने खेत में गेहूं की फसल की देख- रेख में जुटे हैं.

किसान आंदोलन को तीन महीने पूरे होने को आए


आन्दोलनकारी किसानों के मुताबिक़ गर्मी भले ही बढ़ रही हो लेकिन आंदोलन पर इसका कोई असर नहीं दिखेगा. मकड़ौली टोल पर किसानों को तीन महीने पूरे होने को हैं. मकड़ौली टोल प्लाजा पर धरना दे रहे किसान नेता राजू ने बताया की सरकार के गलत कानूनों की वजह से किसान आंदोलन करने पर मजबूर हैं. उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए 6 मार्च को केएमपी हाईवे जाम करने का एलान किया है.

कृषि कानून वापस नहीं होने तक आंदोलन


कहा गया है कि केएमपी हाईवे जाम करने के लिए टोल धरने से भी कुछ लोग जाएंगेऔर जरूरत पड़ी तो दूसरे हाईवे जाम करने में भी देरी नहीं होगी. गांव में भी लोग काली पट्टी बांधकर विरोध दर्ज करेंगे. उनका कहना है कि जब तक कृषि कानून वापस नहीं होंगे तब तक आंदोलन जारी रहेगा और घर वापसी नहीं होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज