Home /News /haryana /

जाट समाज के लोगों ने किया यशपाल मलिक का विरोध, चंदे का दुरुपयोग करने का लगाया आरोप

जाट समाज के लोगों ने किया यशपाल मलिक का विरोध, चंदे का दुरुपयोग करने का लगाया आरोप

यशपाल मलिक

यशपाल मलिक

वहीं जाट नेता यशपाल मलिक के काफी नजदीक रहे पवन जसिया भी उनके विरोध में आ गये हैं.

जाट नेता यशपाल मलिक का रविवार को रोहतक में जाट समाज के ही लोगों ने विरोध किया. समाज के लोगों का कहना है कि मलिक  ने जाट समाज  द्वारा दिये गये चन्दे का दुरूपयोग किया है जबकि समाज के लोगों ने चंदा जाट आरक्षण के दौरान जेल में युवाओं की पैरवी के लिए दिया था. मलिक रोहतक में एक संस्थान की आधारशिला रखने आये थे. समाज के लोगों के विरोध के चलते भारी पुलिस बल को मौके पर बुलाया और मलिक को कड़ी सुरक्षा के बीच वहां से निकाला.

विरोध कर रहे लोगों का कहना था कि जाट समाज द्वारा दिये गये चंदे का यशपाल मलिक ने दुरूपयोग किया है. ये चन्दा मलिक को जाट आरक्षण के दौरान जेल गये युवाओं की रिहाई के लिये दिया था. मलिक ने इस चंदे को वहां प्रयोग न कर स्कूल और अन्य संस्थान खोलने में किया.

वहीं जाट नेता यशपाल मलिक के काफी नजदीक रहे पवन जसिया भी उनके विरोध में आ गये हैं. पवन का कहना है कि मलिक आज रोहतक में एक इंस्टीट्यूट की आधारशिला रखने के लिये आये थे. इस बात का जब जाट समाज के लोगों को पता चला तो सभी वहां एकत्रित हो गये और मलिक का  विरोध करने लगे.

उन्होंने आरोप लगाए कि  मलिक को जो चंदा दिया गया था उसका उन्होंने दुरूप्योग किया. जिनके बच्चे 3-3 साल से अंदर हैं, उस तरफ कार्रवाई करे कि कैसे वो जेल से बाहर आये. इस इंस्टीट्यूट को किसी भी कीमत पर नहीं चलने देंगे.

वहीं यशपाल मलिक ने कहा कि 2017 में भी विरोध था, 2018 में भी हुआ और 2019  में भी होगा. अगर इन लोगों को विरोध करना है तो सरकार का करें. हम उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने को तैयार हैं. हम तो शुरू से  ही सरकार के विरोध  में हैं. जाट समाज ने आपका विरोध क्यों किया इस  बात का जवाब देने की बजाये ये कह दिया कि विरोध करने वालों से पूछो कि विरोध क्यों कर रहे हैं. सरकार के बहकावे  में आकर समाज का विरोध ना करे. अगर विरोध करना है तो  कैप्टन अभिमन्यु का विरोध करे जिसने मुकदमें बंद करवा रखे हैं.

ये भी पढ़ें:-

बजट पेश करने से पहले वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने अपने निवास पर किया हवन

राजकुमार सैनी और बीजेपी आपस में मिले हुए हैं: यशपाल मलिक

हमारी पार्टी की सिर्फ एक ही सोच है, ‘प्रदेश में बदलाव लाना’: दुष्यंत चौटाला

नवीन जिंदल ने भाजपा में जाने की अफवाहों को विराम देते हुए खुद को कांग्रेस का सिपाही बताया

Tags: Haryana news, Jat agitation

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर