PGI की दादागिरी, जो सुरक्षा गार्ड मांगता है वेतन, उसे दिखाया जाता है बाहर का रास्ता

सुरक्षाकर्मयिों का आरोप है कि उन्हें वेतन नहीं दिया जा रहा, बार-बार गुजारिश की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. अब उनके सब्र का बांध टूट गया, इकट्ठे होकर तब तक लडेंगे, जब तक उन्हें वेतन नहीं मिल जाता.


Updated: May 17, 2018, 6:14 PM IST
PGI की दादागिरी, जो सुरक्षा गार्ड मांगता है वेतन, उसे दिखाया जाता है बाहर का रास्ता
मांगों को लेकर धरना देते सिक्टोरी गार्ड

Updated: May 17, 2018, 6:14 PM IST
दिन-रात रोहतक पीजीआई के डाक्टरों की सुरक्षा में तैनात सिक्योरिटी गार्ड्स के परिवार भिखारी बना दिए गए. ये हम नहीं कह रहे, ये शब्द उन 700 सुरक्षाकर्मचारियों के हैं, जो अपने परिवार का पेट पालने के लिए लोगों के सामने हाथ फैला रहे हैं. इसके लिए पीजीआई प्रशासन जिम्मेदार है, क्योंकि पिछले अढाई महीने से इन्हें वेतन नहीं मिल रहा. जो आवाज उठाता है, उसे नौकरी से बाहर निकाल दिया जाता है.

सुरक्षाकर्मयिों का आरोप है कि उन्हें वेतन नहीं दिया जा रहा, बार-बार गुजारिश की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. अब उनके सब्र का बांध टूट गया, इकट्ठे होकर तब तक लडेंगे, जब तक उन्हें वेतन नहीं मिल जाता.

प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए इन कर्मचारियों ने कहा कि जो भी वेतन की बात करता है, उन्हें नौकरी से बाहर निकाल दिया जाता है. वे ठेकेदार के तहत काम करते हैं, इसलिए हर वक्त नौकरी का भय बना रहता है, इसलिए आवाज नहीं उठा पाते. अब एकजुट होकर लड़ रहे हैं और तब तक ये लड़ाई जारी रहेगी जब तक उन्हें इंसाफ नहीं मिल पाता.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर