चोरी छिपे सुनारिया जेल पहुंच रहे राम रहीम के समर्थक, पूछने पर खुद को बताते हैं मुलाकाती

जब से राम रहीम ने पैरोल अर्जी दी थी, तब से लगातार उनके अनुयायी जेल परिसर के आसपास पहुंचने शुरू हो गए थे और उनको देखते हुए रोहतक पुलिस को बाकायदा एक बोर्ड लगाना पड़ा कि यहां पर विडियोग्राफी और फोटोग्राफी करना मना है.

Dheerendra Chaudhary | News18 Haryana
Updated: July 2, 2019, 1:56 PM IST
चोरी छिपे सुनारिया जेल पहुंच रहे राम रहीम के समर्थक, पूछने पर खुद को बताते हैं मुलाकाती
राम रहीम के समर्थक पहुंच रहे सुनारिया जेल
Dheerendra Chaudhary | News18 Haryana
Updated: July 2, 2019, 1:56 PM IST
साध्वियों के यौन शोषण और पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के दोषी गुरमीत राम रहीम ने बेशक अपनी पैरोल अर्जी वापिस ले ली, लेकिन बावजूद इसके उनके अंध भक्तों का रोहतक जेल परिसर के आसपास पहुंचना जारी है. हालांकि रोहतक पुलिस ने एक बोर्ड लगाकर जेल परिसर के आसपास फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी करने पर प्रतिबंध लगा दिया, लेकिन अंधभक्त जेल परिसर के आसपास झाडियों में बैठे दिखाई पड़ जाते हैं.

ढाबों पर गाड़ियां खड़ी कर बेरोक-टोक घूमते हैं

वे बाईपास पर स्थित ढाबों पर अपनी गाड़ियां खडी कर देते हैं और खुद को मुलाकाती बताकर बेरोक-टोक घूमते रहते हैं. सोमवार को राम रहीम के परिवार के लोग और वकील जेल में मिलने पहुंचे थे. इस दौरान रामरहीम ने जेल प्रबंधन को अपनी पैरोल अर्जी को वापिस लेने की एप्लीकेशन दी.

पुलिस ने लगाए बोर्ड

लेकिन जब से राम रहीम ने पैरोल अर्जी दी थी, तब से लगातार उनके अनुयायी जेल परिसर के आसपास पहुंचने शुरू हो गए थे और उनको देखते हुए रोहतक पुलिस को बाकायदा एक बोर्ड लगाना पड़ा कि यहां पर विडियोग्राफी और फोटोग्राफी करना मना है. ये इसलिए किया गया कि इनके समर्थक किसी न किसी बहाने से यहां पहुंचते थे और फोटो करते थे. झाडियों में बैठकर खाना भी खाते थे. फिलहाल इन पर नजर रखी जा रही है.

राम रहीम ने लगाई थी पैरोल की अर्जी

बता दें कि राम रहीम ने प्रशासन से 42 दिनों की पैरोल मांगी थी. पैरोल के लिए उसने खेती करने का बहाना बनाया था. राम रहीम की पैरोल को लेकर हरियाणा की राजनीति भी गर्मा गई थी. हरियाणा भाजपा के कई नेताओं ने राम रहीम की पैरोल का समर्थन किया था. हांलाकि बाद में राह रहीम पैरोल की अर्जी को वापस ले लिया.
Loading...

ये भी पढ़ें- गुरमीत राम रहीम ने बिना शर्त वापस ली अपनी पैरोल की अर्जी

अब मिटेगा जात-पात का भेद, इस खाप के लोग अब अपने नाम के पीछे लिखेंगे गांव का नाम
First published: July 2, 2019, 1:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...