भाई ने साले के साथ मिलकर की थी पति-पत्नी की हत्या, वजह जान चौक जाएंगे आप
Rohtak News in Hindi

भाई ने साले के साथ मिलकर की थी पति-पत्नी की हत्या, वजह जान चौक जाएंगे आप
पुलिस गिरफ्त में हत्यारा

आनंद ने अपने साले राहुल को साजिश में शामिल किया और अशोक व उसकी पत्नी सोनिया की हत्या की प्लानिंग की.

  • Share this:
रोहतक में पति-पत्नी की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. मृतक के बड़े भाई ने अपने साले के साथ मिलकर दोनों की हत्या की थी. पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि उसका साला फरार है. आरोपी को शुक्रवार को रोहतक कोर्ट में पेश किया जाएगा.

बुधवार सुबह के रोहतक नया पड़ाव में अशोक उर्फ सोनू जैन और उसकी पत्नी सोनिया के शव लहूलुहान अवस्था में मिले थे. दोनों की तेजधार हथियार से हत्या की गई थी. पुलिस ने इस संबंध में अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया था. इस मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी जशनदीप सिंह रंधावा ने अपराध जांच शाखा को हत्याकांड की जांच सौंपी.

मामले की शुरूआती में सामने आया कि जिस मकान में अशोक पत्नी के साथ रह रहा था. उसे लेकर बड़े भाई आनंद के साथ विवाद चल रहा था। इसी क्रम में जांच आगे बढ़ी. अशोक व आनंद के अलावा 5 बहन हैं और सभी शादीशुदा हैं. माता पिता का निधन हो चुका है. रोहतक के पुश्तैनी मकान में अशोक पत्नी सोनिया के साथ रहता था, जबकि आनंद दिल्ली के नरेला में परिवार सहित रह रहा था.



दोनों ही भाई इस पुश्तैनी मकान पर अपना दावा जता रहे थे. करीब एक साल पहले मकान को लेकर दोनो की पंचायती तौर पर सुलह हुई जिसके तहत मकान अशोक के नाम होना तय हुआ. इसके बदले में  अशोक को बड़े भाई आनन्द को 10 लाख रुपए देने थे. अशोक ने आनंद को डेढ़ लाख रुपए दे दिए थे तथा मकान अपने नाम करा लिया जबकि बाकी रकम को लेकर वह आनाकानी कर रहा था. पैसों के लेन-देन को लेकर अशोक व आनंद के बीच कई बार कहासुनी हो चुकी थी.
आनंद ने अपने साले राहुल को साजिश में शामिल किया और अशोक व उसकी पत्नी सोनिया की हत्या की प्लानिंग की. इसी के तहत वह बुधवार रात को करीब 11 बजे दिल्ली से अशोक के घर रोहतक पहुंचा. घर पर अशोक व सोनिया दोनो मौजूद थे. आनंद ने अशोक व सोनिया को बताया कि वे दोनों रोहतक किसी काम से आये थे और दोनो सुबह 5 बजे वापस दिल्ली चले जाएंगे.

आनंद ने सुबह 5 बजे उठकर सोनिया को आवाज देकर चाय पिलाने को कहा. जिस समय सोनिया उन दोनों को चाय देने के लिए कमरे आई तो आनंद व राहुल ने अपने साथ लिए हुए चाकुओं से मौका पाते ही सोनिया पर हमला कर दिया. सोनिया की चीख सुनकर अशोक उठ गया. राहुल ने बिस्तर पर ही अशोक को दबोच लिया. आनंद और राहुल ने मिलकर चाकूओं से दोनों की निर्मम हत्या कर दी. हत्या के बाद दोनो आरोपी नरेला दिल्ली चले गए.

ये भी पढ़ें:-

पुलवामा आतंकी हमले में पंजाब के 4 जवानों ने दी शहादत, परिजन बोले- बदला लो...

कांग्रेस ने कहा- मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर हरियाणा के "द एक्सीडेंटल चीफ मिनिस्टर"
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज