• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • Rohtak Murder Case: कोर्ट में फूट-फूट कर रोया आरोपी अभिषेक, वकील ने की CBI जांच की मांग

Rohtak Murder Case: कोर्ट में फूट-फूट कर रोया आरोपी अभिषेक, वकील ने की CBI जांच की मांग

जज ने अभिषेक को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया

जज ने अभिषेक को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया

Haryana News: शिवाजी कॉलोनी पुलिस थाने की एक टीम आरोपी अभिषेक को लेकर कोर्ट पहुंची. वहां उन्हें बाहर बैंच पर इंतजार करने को कहा गया. बैंच पर बैठकर मोनू रोता रहा और खुद ही आंसू पोंछता रहा.

  • Share this:

रोहतक. 27 अगस्त को रोहतक की विजय नगर कॉलोनी में हुए चौहरे हत्याकांड (Murder Case) मामले में आरोपी बेटे को कोर्ट में पेश किया गया. जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. वहीं, आरोपी पक्ष के वकील ने आरोप लगाया कि पुलिस ने मनगढंत कहानी पेश की है, इस पूरे मामले की सीबीआई जांच (CBI Investigation) होनी चाहिए. दोपहर तकरीबन दो बजे आरोपी को कोर्ट में लाया गया. इस दौरान कोर्ट में काफी संख्या में पुलिस तैनात रही. कोर्ट परिसर में बैठा अभिषेक काफी परेशान नजर आ रहा था और इस दौरान वह कई बार फूट-फूट कर रोया भी.

हालांकि पुलिस ने मीडिया को आरोपी के नजदीक नहीं जाने दिया और इसके लिए बाकायदा काफी पुलिसकर्मी कोर्ट परिसर के आसपास तैनात किए गए थे. सीजेएम सुयशा जावा की कोर्ट ने आरोपी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. आरोपी पक्ष के वकील मोहित वर्मा ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए और कहा कि इस लड़के को फंसाने और अपनी नाकामी छिपाने के लिए पुलिस ने मनगढंत कहानी पेश की है. इस पूरे मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए, ताकि असली गुनहगार सामने आ सके.

वकील बोला- अभिषेक ने खुद को बेगुनाह बताया

वकील ने कहा कि पुलिस की कहानी में इतने सारे पेंच हैं, जोकि एक दूसरे से मेल नहीं खाते. जल्द ही इस मामले को लेकर सभी साक्ष्य सामने लाए जाएंगे. फिलहाल पूरे मामले की स्टडी की जा रही है, वकील के मुताबिक उनकी अभिषेक से बात हुई है और उसने खुद को बेगुनाह बताया है. पुलिस अपनी नाकामी छिपाने के लिए उसे फंसा रही है.

ऐसे दिया वारदात को अंजाम

वहीं पुलिस ने बताया कि आरोपी इस हत्या की योजना काफी वक्त से बनाए हुए था. परिवार के लोग उसके संबंधों को लेकर काफी नाराज थे और जिसके चलते उसके पिता ने उसे खर्च देना भी बंद कर दिया था. अभिषेक ने कई दिन पहले ही अपने पिता के अवैध पिस्तौल को छिपाकर अपने पास रख लिया था. 27 अगस्त को वारदात वाले दिन उसने सबसे पहले घर के ऊपरी हिस्से में अपने कमरे में सो रही बहन को गोली मारी, इसके बाद नानी को गिटार दिखाने के बहाने बुलाया और फिर उसे भी गोली मार दी. इसके बाद नीचे आया और मां को यह कहकर ऊपर लेकर गया कि नानी को पता नहीं क्या हो गया.

जब मां भी कमरे में पहुंची तो उसे भी गोली मार दी. गोलियों की आवाज किसी को सुनाई ना पड़े इस वजह से तेज आवाज में म्यूजिक ऑन कर दिया था. बाद में उसने नीचे आकर अपने मोबाइल पर वीडियो देख रहे पिता बबलू पहलवान के माथे से सटाकर दो गोली मार दी. दो गोली लगने के बाद भी पहलवान उठने लगा तो उसने तीसरी गोली भी मार दी. इस तरह से वह वारदात को अंजाम देकर पूरे घर में लॉक लगाकर अपने दोस्त के पास होटल में चला गया. इस दौरान उसने रास्ते में पिस्तौल भी फेंक दी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज