PGI रोहतक के हॉस्टल में छात्र ने पंखे से फंदा लगा दी जान, छात्रों ने HOD पर लगाए आरोप

पीजीआई में डॉक्टर के सुसाइड के बाद काफी संख्या में हॉस्टल में सीनियर और जूनियर रेजीडेंट डॉक्टर्स एकत्रित हो गए. इसके बाद उन्होंने विभाग के एक अधिकारी पर डॉ. ओंकार को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया.

Dheerendra Chaudhary | News18 Haryana
Updated: June 14, 2019, 11:25 AM IST
PGI रोहतक के हॉस्टल में छात्र ने पंखे से फंदा लगा दी जान, छात्रों ने HOD पर लगाए आरोप
डॉक्टर्स हॉस्टल के कमरे में फांसी लगाकर दी जान
Dheerendra Chaudhary | News18 Haryana
Updated: June 14, 2019, 11:25 AM IST
पीजीआईएमएस रोहतक के डॉक्टर्स हॉस्टल में मेडिकल पीजी के छात्र द्वारा आत्महत्या करने का मामला सामने आया है. कर्नाटक के रहने वाले डॉ ओकांर ने डॉक्टर्स हॉस्टल के रूम नम्बर 33 में छत के पंखे से फांसी लगाकर जान दे दी. मृतक पीजीआईएमएस से पीडियाट्रिक्स (बाल रोग) फाइनल ईयर का छात्र था. छात्र ने इतना बड़ा कदम क्यों उठाया इसका अभी तक खुलासा नहीं हो पाया.

फिलहाल रोहतक पुलिस ने मौके पर पहुंच कर छानबीन शुरू कर दी है. बता दें कि देर रात को डिनर करने के बाद ओंकार अपने रूम में चला गया था. वहीं डॉ. ओंकार की सुसाइड की घटना के विरोध में दर्जनों पीजी डॉक्टर आ गए है. इन डॉक्टर्स ने एचओडी पर आरोप लगाते हुए उसके घर के बाहर हंगामा किया.



साथी डॉक्टरों ने नहीं उठाने दिया शव 

पीजीआई में डॉक्टर के सुसाइड के बाद काफी संख्या में हॉस्टल में सीनियर और जूनियर रेजीडेंट डॉक्टर्स एकत्रित हो गए. इसके बाद उन्होंने विभाग के एक अधिकारी पर डॉ. ओंकार को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया. डॉ. ओंकार के साथी डॉक्टरों का आरोप है कि विभाग के अधिकारी ओंकार की छुट्टी मंजूर नहीं कर रहे थे. इस वजह से वो परेशान था. अधिकारी पर कार्रवाई की मांग पर उन्होंने पुलिस को कमरे से डॉ. ओंकार का शव नहीं उठाने दिया. आधी रात तक पीजीआई प्रबंधन और पुलिस डॉक्टरों को शव उठाने देने के लिए मनाने में जुटे रहे.

ये भी पढ़ें- गुरुग्राम: इराकी नागरिक ने 8वीं मंजिल से फेंककर ली दो कुत्तों की जान, गिरफ्तार

ये भी पढ़ें- विधानसभा चुनाव: बीजेपी की इस समीक्षा के बाद हरियाणा के दो जाट नेताओं के लिए बढ़ी चुनौती!
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...