सतलुज यमुना लिंक विवाद: पानी को लेकर पंजाब और हरियाणा में फिर छिड़ी जंग

पंजाब की सभी सियासी पार्टियां एक सुर में कह रही हैं कि राज्‍य के पास आज पानी नहीं है, ऐसे में हरियाणा को पानी किस तरह से दिया जाए.


Updated: July 24, 2019, 3:05 PM IST
सतलुज यमुना लिंक विवाद: पानी को लेकर पंजाब और हरियाणा में फिर छिड़ी जंग
चुनाव नजदीक आते ही दोनों राज्‍यों के बीच पानी की बहस छिड़ गई है.

Updated: July 24, 2019, 3:05 PM IST
सुप्रीम कोर्ट ने पिछले दिनों कहा था कि केंद्र, पंजाब और हरियाणा सरकार मिलकर पानी की लड़ाई का समाधान निकालें या फिर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू किया जाए. इसके बाद सतलुज यमुना लिंक (Sutlej Yamuna link) के पानी को लेकर हरियाणा और पंजाब में सियासी जंग शुरू हो गई है.

पंजाब की सभी सियासी पार्टियां एक सुर में कह रही हैं कि राज्‍य के पास आज पानी नहीं है, ऐसे में हरियाणा को पानी किस तरह से दिया जाए. कांग्रेस सांसद गुरजीत औजला, बीजेपी नेता और अकाली दल के नेता कह रहे सुप्रीम कोर्ट को आज पानी के हालात को देखते हुए नया ट्रिब्यूनल बनाना चाहिए और इसके बाद फैसला आना चाहिए. पंजाब के पास जब तक पानी था तब तक वह हरियाणा को पानी देता रहा है, लेकिन आज हालात बदल चुके हैं. अगर अब हरियाणा को पानी दिया गया जो पंजाब की जमीन बंजर हो जाएगी और ऐसी स्थिति में किसान का नुकसान होना तय है.

हरियाणा में मचा बवाल
हरियाणा सरकार कह रही है कि हम अपने हक का पानी मांग रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला सुना चुका है और इसको तुरंत लागू किया जाना चाहिए. हालांकि हरियाणा में बीजेपी की सरकार होने की वजह से विरोधी पार्टियां उस पर निशाना साध रही हैं. कांगेस समेत सभी दल के नेता कह रहे है कि केंद्र और प्रदेश में बीजेपी की सरकार है, बावजूद इसके मामले को जानबूझकर लटकाया जा रहा है.

केंद्र सरकार ने लिया ये फैसला
दोनों राज्‍यों के बीच सतलुज यमुना लिंक के पानी को लेकर हंगामा मचा हुआ है. हालांकि इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट हरियाणा के पक्ष में फैसला सुना चुका है, लेकिन पंजाब पानी देने को तैयार नहीं है. जबकि केंद्र सरकार ने पूरे देश में पानी की समस्या को देखते हुए नए ट्रिब्यूनल बनाने की बात कही है.

ये भी पढ़ें-BJP MLA की बेटी ने इस मंदिर में की थी शादी, मैरिज सर्टिफिकेट को महंत ने बताया फर्जी
Loading...

यूपी विधानसभा उपचुनाव: अखिलेश यादव का फरमान, SP से टिकट चाहिए तो करना होगा ये काम
First published: July 11, 2019, 4:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...