रोहतक : अखाड़े में अंधाधुंध फायरिंग कर 5 की जान लेने का आरोपी कुश्ती कोच दिल्ली से गिरफ्तार

हत्या के आरोपी कोच को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

रोहतक के जाट कॉलेज के अखाड़े में हुई थी यह वारदात. हत्या के आरोपी कोच सुखवेंद्र को हरियाणा और दिल्ली की पुलिस ने एक साझा अभियान चलाकर समयपुर बादली से गिरफ्तार किया है.

  • Share this:
    रोहतक. रोहतक (Rohtak) के जाट कॉलेज (Jat College) के अखाड़े में 5 लोगों की हत्या करने के बाद फरार हुए कुश्ती कोच सुखवेंद्र (Sukhvendra) को शनिवार को गिरफ्तार (Arrested) कर लिया गया. इसे दिल्ली पुलिस ने समयपुर बादली से गिरफ्तार किया है. दिल्ली पुलिस (delhi police) और हरियाणा पुलिस (Haryana Police) ने ज्वाइंट ऑपरेशन चलाकर हत्या के आरोपी को पकड़ने में सफलता हासिल की. पुलिस ने सुखवेंद्र पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा था.

    जानकारी के अनुसार जाट कॉलेज के अखाड़े में शुक्रवार रात अंधाधुंध फायरिंग की गई थी, जिसमें मुख्य कुश्ती कोच मनोज व उनकी पत्नी सहित पांच लोगों की मौत गई थी. इस हत्याकांड को अंजाम देने के बाद फरार चल रहे आरोपी कोच सुखवेंद्र पर पुलिस ने शनिवार सुबह एक लाख का इनाम घोषित कर दिया गया था. इसे पकड़ने के लिए थाना पुलिस और सीआईए के अलावा एसटीएफ की टीम भी जुटी हुई थी. एसपी राहुल शर्मा ने शनिवार को पीजीआई थाने में पत्रकारों को इस पूरे मामले की जानकारी दी. हत्या के आरोपी की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली है. पुलिस अब पकड़े गए कुश्ती कोच से इस वारदात के मुख्य कारण की जानकारी ले रही है.

    शुक्रवार को की गई थी अंधाधुंध फायरिंग

    जाट कॉलेज के अखाड़ा परिसर में एक कोच ने शुक्रवार की रात अंधाधुंध फायरिंग कर दी थी. इसमें मुख्य कुश्ती कोच मनोज व उनकी पत्नी सहित 5 लोगों की मौत हो गई थी. घटना में एक अन्य कुश्ती कोच व मनोज का तीन वर्षीय बेटा सरताज भी गंभीर रूप से घायल हो गया था. कोच का इलाज गुरुग्राम व बच्चों का पीजीआई में कराया जा रहा है. जिनकी मौत हुई उनमें दंपती के अलावा दो अन्य कुश्ती कोच व एक महिला पहलवान शामिल है.

    कमरे में बुलाकर मारी थी गोली

    बताया जा रहा है कि अभियुक्त सुखवेंद्र मोर सोनीपत के बरोदा का रहने वाला है. सुखवेंद्र अखाड़े की ऊपर वाली मंजिल पर रहता था. उसने मनोज और उसके परिवार को रात 9:30 बजे अपने कमरे में बुलाया और ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. मनोज को तीन गोलियां लगीं और उनकी पत्नी व बच्चे को भी एक-एक गोली लगी.

    कोच और खिलाड़ियों पर फायरिंग कर हुआ था फरार

    गोली की आवाज सुनकर अखाड़े में नीचे बैठे अन्य कोच और खिलाड़ी ऊपर की तरफ दौड़े, तभी अभियुक्त ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी और भाग गया. घायलों को अस्पताल ले जाया गया. लेकिन मनोज मलिक की पत्नी साक्षी, उत्तर प्रदेश के मथुरा की रहने वाली पहलवान पूजा और रोहतक के गांव मोखरा के रहनेवाले कोच प्रदीप की मौत हो चुकी थी. कोच मनोज और झज्जर के गांव मांडौठी के रहनेवाले कोच सतीश दलाल को एक निजी अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उनकी भी मौत हो गई. पुलिस ने अब सुखवेंद्र को गिरफ्तार कर लिया है. उससे पूछताछ की जा रही है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.