सिरसा: हरियाणा रोडवेज की 5 बसों को किया एम्बुलेंस में तब्दील, स्वास्थ्य विभाग को सौंपी

हरियाणा रोडवेज की बसों को बनाया एंबुलेंस

कोरोना मुक्त हरियाणा को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने यह बड़ा फैसला लिया है. 25 वोल्वो बसें चलते-फिरते अस्पताल की तरह होंगी.

  • Share this:
सिरसा. वैश्विक महामारी कोरोना के विरुद्ध जारी जंग में  सिरसा रोडवेज बसें (Roadways Buses) भी एम्बुलेंस के रूप में अपनी सेवाएं देने सड़कों पर उतरेंगी. सिरसा रोडवेज प्रशासन ने हरियाणा सरकार (Haryana Government) व रोडवेज मुख्यालय के निर्देश पर पांच बसों को एम्बुलेंस के रूप में तब्दील किया. पांचों बसों में चार-चार बिस्तर की व्यवस्था की गई है. साथ ही प्रत्येक बिस्तर के साथ एक-एक ऑक्सीजन सिलेंडर भी जोड़ा गया है.

अन्य इमरजेंसी उपकरण भी उपलब्ध करवाए गए हैं. आज सिरसा के उपायुक्त प्रदीप कुमार ने स्वास्थ्य विभाग को पांचों बस एम्बुलेंस सुपुर्द की. सिरसा जिला में जहां भी जरूरत होगी इन्हें मरीजों की सेवा के लिए भेजा जाएगा.

स कदम की सराहना की

उपायुक्त प्रदीप कुमार ने रोडवेज के इस कदम की सराहना की. उन्होंने कहा कि इन बस एम्बुलेंस के मिलने से ग्रामीण क्षेत्रों के मरीजों को लाभ मिलेगा. फिलहाल रोडवेज के चालक ही इनका संचालन करेंगे. पीपीई किट व अन्य जरूरी उपकरण बस एम्बुलेंस में उपलब्ध रहेंगे.

3 दिन में तैयार हो जाएंगी वोल्वो एंबुलेंस 

बता दें कि हरियाणा सरकार ने गांवों में कोरोना का प्रसार रोकने के प्रयास तेज कर दिए हैं. इसी के तहत रोडवेज की मिनी बसों को एंबुलेंस में तब्दील किया गया है. इसके अलावा 25 वोल्वो को भी अत्याधुनिक एंबुलेंस में तब्दील किया जाएगा. इनमें ऑक्सीजन समेत प्राथमिक उपचार की सभी सुविधाएं मौजूद होंगी. 25 वोल्वो बसें चलते-फिरते अस्पताल की तरह होंगी. ये वोल्वो एंबुलेंस 3 दिन में तैयार हो जाएंगी और प्रत्येक जिले के गांव में दौरा करेंगी.